Saturday, Apr 04, 2020
kanhaiya kumar former jnu student express feelings over confrontation lawyers and delhi police

कन्हैया कुमार ने वकील-पुलिस भिड़ंत को लेकर जाहिर किए जज्बात

  • Updated on 11/6/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली में वकीलों और पुलिस के बीच हुई भिड़ंत के बाद जेएनयू के पूर्व छात्र नेता कन्हैया कुमार ने भी अपने जज्बात जाहिर किए हैं। अपने टिवटर हैंडर पर कन्हैया कुमार ने लिखा है, 'इस पूरे मामले में होना यह चाहिए था कि जिसने भी क़ानून तोड़ा हो चाहे पुलिस हो या वक़ील उन पर तुरंत कार्रवाई की जाती, लेकिन दुखद है कि हमारे देश की राजनीति क़ानून को अपना काम निष्पक्ष तरीक़े से करने नहीं देती है।'

#PF घोटाले को लेकर अखिलेश यादव ने CM योगी पर साधा निशाना

अयोध्या फैसले से पहले मुस्लिम समुदाय को लेकर RSS-BJP सक्रिय

गृह मंत्री अमित शाह और कानूनी मंत्री रविशंकर प्रसाद पर निशाना साधते हुए कन्हैया अपने अगले ट्वीट में वह लिखते हैं, 'राजनीतिक गुणा भाग के चलते ही इस पूरे मामले पर न तो क़ानून मंत्री का और न ही गृहमंत्री का कोई बयान आया है।

महबूबा की बेटी की गुहार- मेरी मां को सर्दियों के लिहाज से उपयुक्त स्थान पर भेजा जाए

जेएनयू मामले में कोर्ट परिसर में अपने ऊपर वकीलों के हमले का जिक्र करते हुए वह लिखते हैं, 'जब मेरे ऊपर और कुछ मीडिया वालों के ऊपर कोर्ट परिसर में कुछ वकीलों ने हमला किया था तब हमला करने वाले वकीलों के सरदार और हमला होने देने वाले पुलिस के सरदार दोनों को सरकार ने ईनाम दिया था। इसलिए ही हम आज भी किसी पेशे के ख़िलाफ़ नहीं बल्कि न्याय के पक्ष में खड़े हैं।'

कश्मीर में नाबालिगों को हिरासत में लेने की फिर से जांच हो: सुप्रीम कोर्ट

वकीलों की मारपीट से नाराज पुलिसकर्मियों ने केजरीवाल पर साधा निशाना

केंद्र की मोदी सरकार की नीतियों से खफा कन्हैया अपने अगले ट्वीट में लिखते हैं, 'मेरा व्यक्तिगत अनुभव कहता है कि राजनीति हर पेशे के अपराधियों को अपने फ़ायदे के लिए संरक्षण देती है। इसलिए अपराध के ख़िलाफ़ बोलिए, किसी पेशे के ख़िलाफ़ नहीं।'

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.