Tuesday, Oct 26, 2021
-->
kanhaiya kumar told reason for joining congress targeted rss pm modi rkdsnt

कन्हैया कुमार ने बताई कांग्रेस में शामिल होने की वजह, RSS पर साधा निशाना

  • Updated on 9/28/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कन्हैया कुमार राहुल गांधी की मौजूदगी में कांग्रेस में शामिल हो गए हैं। उनके साथ गुजरात से निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवानी ने कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की। कांग्रेस की प्रेस कॉन्फ्रेंस में कन्हैया कुमार ने कांग्रेस में शामिल होने की वजह का खुलासा किया, वहीं आरएसएस पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस बचेगी तभी देश बचेगा। वहीं, जिग्नेश ने कहा कि आज हमारा संविधान और लोकतंत्र खतरे में है, उसे हमें बचाना है।

राहुल गांधी की मौजूदगी में कन्हैया कुमार, जिग्नेश मेवाणी ने कांग्रेस का थामा दामन

उन्होंने आगे कहा, 'मुझे भरोसा है कि कांग्रेस जो अपने आपको लोकतांत्रिक पार्टी कहती है, वो सत्ता से सवाल पूछने और लोगों के संघर्ष के लिए लड़ने में हमारा साथ देगी। कन्हैया ने आरएसएस पर हमला करते हुए कहा कि ये संघ परिवार नहीं है। वो क्या परिवार है कि अपना परिवार छोड़कर परिवार बनाना पड़े। महात्मा गांधी अपनी पत्नी के साथ अंग्रेजों से लड़े। आप इतिहास उठाकर देख लीजिए सब लोग अपने परिवार के साथ रहते थे।

दिल्ली दंगे : कोर्ट ने दोषी पुलिसकर्मी के वेतन से 5000 रुपये की कटौती का दिया आदेश

कन्हैया ने कहा, 'मुझे महसूस होता है कि इस देश में कुछ लोग, वो सिर्फ लोग नहीं है, वो एक सोच है। इस देश की चिंतन परंपरा, संस्कृति, मूल्स, इतिहास, वर्तमान और भविष्य खराब करने की कोशिश कर रहे हैं। कहीं मैंने पढ़ा था कि आप अपने दुश्मन का चुनाव कीजिए, दोस्त अपने आप बन जाएंगे। तो मैंने चुनाव किया है। लोकतांत्रिक पार्टी में हम इसलिए शामिल होना चाहते हैं, क्योंकि अब लगने लगा है कि अगर कांग्रेस नहीं बचा तो देश नहीं बचेगा।

मैंने पहले ही कहा था कि सिद्धू स्थिर व्यक्ति नहीं है : अमरिंदर सिंह

जेएनयू के पूर्व छात्र नेता ने कहा, 'मैं साफ कर देता हूं कि देश में प्रधानमंत्री अब भी हैं, पहले भी थे और आगे भी होते रहेंगे, लेकिन आज जब हम लोग राहुल गांधी की मौजूदगी में हम लोग फॉर्म भर रहे थे तो साथी जिग्नेश ने संविधान की कॉपी दी और हमने गांधी-अंबेडकर और भगत सिंह की तस्वीर दी, क्योंकि आज इस देश को भगत सिंह की साहत की जरूरत है। अंबेडकर की समानता की जरूरत है और गांधी की एकता की जरूरत है।

नए कृषि कानूनों ने किसान का अदालत जाने का मौलिक अधिकार छीना : दिग्विजय सिंह 

कन्हैया ने कहा, 'जो सबसे बड़ी विपक्षी पार्टी है, उसे नहीं बचाया गया तो देश नहीं बचेगा। बड़े जहाज को नहीं बचाया गया तो छोटी-छोटी कश्तियां भी नहीं बचेंगी। मैं जहां पैदा हुआ, जिस पार्टी में पला-बढ़ा, उसने मुझे सिखाया, लड़ने का जज्बा दिया है। मैं उस पार्टी के साथ लोगों को भी धन्यवाद देना चाहता हूं, जो किसी पार्टी से नहीं थे, लेकिन जब किसी पार्टी की ओर से हमारे ऊपर अनावश्यक आरोप लगाए गए थे, तब वो वॉट्सऐप पर हमारे लिए लड़ रहे थे। इस देश को कांग्रेस ही नेतृत्व दे सकती है। 
 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.