Thursday, Feb 27, 2020
Kannan Gopinathan Bureaucrat turned activist says some RSS people also against CAA

#RSS के कुछ लोग भी #CAA के खिलाफ हैं : कन्नन गोपीनाथन

  • Updated on 1/28/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। नौकरशाह से कार्यकर्ता बने कन्नन गोपीनाथन (Kannan Gopinathan) ने मंगलवार को कहा कि ‘‘आरएसएस (RSS) के कुछ लोगों’’ का भी मानना है कि संशोधित नागरिकता काननू खराब कानून (CAA) है, लेकिन वे चुप हैं क्योंकि केंद्र की मोदी सरकार उनकी अपनी सरकार है। पणजी में उन्होंने कहा कि नरेन्द्र मोदी सरकार ‘‘शराब पीए हुए किशोर’’ की तरह व्यवहार कर रही है जिससे सवाल किए जाने की जरूरत है नहीं तो वह घरों को तबाह कर देगी। 

अखिलेश बोले- उत्तर प्रदेश की योगी सरकार बन गई है इवेंट मैनेजमेंट कमेटी

उन्होंने दावा किया, 'मुझे उत्तर प्रदेश में दो बार हिरासत में लिया गया, पूरे दिन हिरासत में रखा गया क्योंकि वे (सरकार) नहीं चाहते कि कोई सवाल पूछे (सीएए पर)। मैंने आरएसएस के कई लोगों से मुलाकात की, वे भी इसे समझते हैं... अगर आप इस बातचीत को देखें तो वे भी समझते हैं कि सरकार ने कुछ (गलत) किया है और उन्हें इसका समर्थन करने के लिए कहा गया है।'

रजनीकांत के खिलाफ आयकर विभाग ने याचिका वापस ली, उठे सवाल

उन्होंने कहा कि आरएसएस के लोगों का यही मानना है कि 'इसका (सीएए) केवल समर्थन करो’’ क्योंकि वे वाद-विवाद नहीं चाहते क्योंकि ‘‘सरकार उनकी अपनी है।' गोपीनाथन ने कहा, 'वह (सरकार) सामान्य बच्चा नहीं है बल्कि नशे में चूर किशोर है। उससे सवाल किए जाने चाहिए क्योंकि जब वह बर्बाद करना शुरू करेगी तो केवल किसी और का घर बर्बाद नहीं करेगी बल्कि आपके अपने घर को बर्बाद कर देगी।'

येचुरी बोले- हाई लेवल करप्शन की जड़ में Electoral Bond स्कीम है

comments

.
.
.
.
.