Monday, Jul 06, 2020

Live Updates: Unlock 2- Day 4

Last Updated: Sun Jul 05 2020 10:11 PM

corona virus

Total Cases

697,026

Recovered

424,185

Deaths

19,699

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA206,619
  • NEW DELHI99,444
  • TAMIL NADU86,224
  • GUJARAT36,123
  • UTTAR PRADESH24,056
  • RAJASTHAN19,256
  • WEST BENGAL17,907
  • ANDHRA PRADESH17,699
  • HARYANA15,732
  • TELANGANA15,394
  • KARNATAKA14,295
  • MADHYA PRADESH13,861
  • BIHAR10,392
  • ODISHA8,601
  • ASSAM7,836
  • JAMMU & KASHMIR7,237
  • PUNJAB5,418
  • KERALA4,312
  • UTTARAKHAND2,831
  • CHHATTISGARH2,795
  • JHARKHAND2,426
  • TRIPURA1,385
  • GOA1,251
  • MANIPUR1,227
  • LADAKH964
  • HIMACHAL PRADESH942
  • PUDUCHERRY714
  • CHANDIGARH490
  • NAGALAND451
  • DADRA AND NAGAR HAVELI203
  • ARUNACHAL PRADESH187
  • MIZORAM151
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS97
  • SIKKIM88
  • DAMAN AND DIU66
  • MEGHALAYA51
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
kapoorthala saint turned flow of river now more than 100 villages saved from flood pragnt

पंजाब: संत ने मोड़ दिया दरिया का रुख, बचा लिया हजारों लोगों का घर

  • Updated on 6/5/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। वो कहते है ना कि अगर मन में विश्वास है तो आप बहती हुई नदी का रुख भी बदल सकते हैं। ऐसा ही कुछ पंजाब के एक संत ने कर दिखाया है। पंजाब (Punjab) के कपूरथला में रहने वाले एक संत ने कुछ लोगों की मदद से एक हजार परिवारों की जिंदगी बचा ली है।

Unlock-1: 8 जून से खुलेंगे धार्मिक स्थल, मंदिर-गुरुद्वारों को किया जा रहा सैनिटाइज, देखें तैयारियां

बन रहा 53 किमी लंबा बांध
पर्यावरण प्रेमी पद्मश्री संत बलबीर सीचेवाल ने इस बार हजारों किसानों की फसलों और घरों को तबाह होने से बचाने का जिम्मा उठाया है। उन्होंने लोगों की मदद से 53 किमी लंबा बांध बनाने का फैसला लिया है। आपको बता दें कि इसमें सरकार की तरफ से बिल्कुल भी योगदान नहीं है। संत सीचेवाल दरिया के किनारों को 12 फीट ऊंचा और 35 फीट चौड़ा बना रही है। जिससे गांव को बाढ़ से बचाया जा सकें।

Punjab Pull

दिल्ली में पहले भी 2 बार हो चुका है टिड्डियों का हमला, पूरी हरियाली चट कर गया था टिड्डी दल

पिछले साल 100 गांव आए थे चपेट में
हर साल इस नदी से करीब 100 गांव प्रभावित होते हैं। जिससे सैकड़ों लोग बेघर हो जाते हैं। इसलिए इस बार यहां पर बांध बनाने का फैसला किया गया। आपको बता दें कि पिछले साल आई बाढ़ से 100 गांव डूब गए थे, जिससे करीब 18 से 20 हजार एकड़ फसल तबाह हो गई थी।

लव जिहाद: शाकिब ने अमन बनकर युवती को फंसाया, पकड़े जाने पर गला काट कर मार डाला

5 महीने से हो रहा है काम
आपको बता दें कि बिना सरकार की मदद से ये 31 जनवरी 2020 से रेलवे पुल के नीचे से मिट्टी निकालने का काम चल रहा है। तो ऐसा कह सकते हैं पिछले 5 महीने से लोग मिलकर इस अभियान को चला रहे हैं। इसके लिए रोजाना  90 ट्रैक्टर-ट्रालियों, 10 टिप्पर, पांच बड़ी क्रेनों व तीन जेसीबी मशीनों के साथ सैकड़ों कार सेवक काम कर रहे हैं।

punjab saint river flood

पंजाब: कोरोना का कहर जारी! राज्य में अब तक कुल 2,415 केस आए सामने

रोजाना हो रही है 3 हजार लीटर की खपत
सतलुज दरिया से पिछले 5 महीने से मिट्टी निकाली जा रही है। ऐसे में हर रोज 2 लाख से अधिक रुपए के डीजल की खपत हो रही है। आपको बता दें कि इस काम में खर्च होने वाला पैसा भारत ही नहीं इंग्लैंड, अमेरिका, इटली, कनाडा, आस्ट्रेलिया जैसे अन्य देशों की गुरद्वारा कमेटी से आ रहा है।

कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरों को यहां पढ़ें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.