कर्नाटक: बीजेपी के तीन विधायकों पर नजर, कांग्रेस ने बुलाई विधायक दल की बैठक

  • Updated on 1/18/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कर्नाटक की सियासत का भूचाल खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। बीजेपी के ऑपरेशन लोटस के फेल होने के बाद आज कांग्रेस विधायक दल की बैठक होने वाली है। कांग्रेस अपने रुठे हुए विधायकों का मनाने के लिए इस बैठक को आयोजित कर रही है। लेकिन अभी भी कांग्रेस के तीन विधायक अभी भी अंसुष्ट नजर आ रहे हैं।  ऐसा माना जा रहा है कि बीजेपी इन्हें साधने की कोशिश में हैं। लेकिन कर्नाटक के डिप्टी सीएम का दावा है कि ऐसा बिल्कुल नहीं। सभी विधायक पार्टी से संतुष्ट हैं और मीटिंग में शामिल होने वाले हैं। 

बालासाहेब ठाकरे नहीं होते तो हिंदुओं को भी नमाज पढ़नी पड़तीः शिवसेना

वहीं खबर है कि बीजेपी के 12 विधायक वापस बेंगलुरु लौट आएं हैं। बाकी बचें विधायक कांग्रेस की विधायक दल की मीटिंग के बाद ही वापस आने का तय करेंगे। अभी करीब 75 विधायक गुड़गांव के रिजार्ट में ठहरे हैं। 

कांग्रेस अपनी नाराज विधायकों से बात करेगी जो बीजेपी के साथ मिलकर कुमारस्वामी की सरकार घिराने की कोशिश में हैं। खबर हैं कि अभी भी कुछ बीजेपी नेताओं को कांग्रेस विधायक रमेश जारकीहोली, महेश कुमातल्ली और उमेश जाधव से उम्मीद बंधी है जो अभी भी मुंबई भी मुंबई के होटेल में ठहरे हुए हैं। 

मिशन-2019 को फतह करने के लिए बुद्धिजीवियों पर डोरे डालेगी भाजपा

कर्नाटक के डिप्टी सीएम जी परमेश्वर का कहना है कि 'येदियुरप्पा बीजेपी के अध्यक्ष हैं, उन्हें कांग्रेस विधायकों की चिंता करने की जरूरत नहीं है। हमारे सभी विधायक बैठक का हिस्सा होंगे। यह बात दयनीय है कि बीजेपी इस स्तर तक पहुंच गई कि उन्होंने हमारे विधायकों से संपर्क किया और अभी भी कर रहे हैं लेकिन वे सफल नहीं होंगे।' 

वहीं खबर है कि सिद्धारमैया के चेतावनी भी जारी की है कि अगर कोई विधायक मीटिंग में नहीं आता है तो इस पर संविधान की अनुसूची 10 की तहत कार्रवाही की जाएगी जिसमें दलबदल करने पर कानूनी कार्रवाही की जाती है। लेकिन विशेषज्ञों का मानना है कि इसतरह की कानून ज्यादा असरदार नहीं होता है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.