Friday, Sep 30, 2022
-->
karnataka: ruckus over banners of savarkar and tipu sultan, section 144 imposed

कर्नाटक: सावरकर और टीपू सुल्तान के बैनर पर बवाल, धारा- 144 लागू

  • Updated on 8/16/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कर्नाटक के शिवमोगा शहर में आमिर अहमद सर्कल पर ङ्क्षहदुत्व के प्रतीक विनायक दामोदर सावरकर और मैसूर के शासक टीपू सुल्तान का ‘फ्लेक्स’ (एक तरह का बैनर) लगाने को लेकर दो समूहों के बीच विवाद के कारण इलाके में तनावपूर्ण स्थिति पैदा हो गई है, जिससे अधिकारियों को निषेधाज्ञा लागू करने को मजबूर होना पड़ा है। पुलिस ने सोमवार को यह जानकारी दी।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि इस बीच, प्रेम सिंह नामक एक युवक को अज्ञात अपराधियों ने उस वक्त कथित तौर पर छुरा मारकर घायल कर दिया, जब वह अपनी दुकान बंद करके घर लौट रहा था। सूत्रों ने बताया कि पुलिस यह सुनिश्चित करने के लिए पड़ताल कर रही है कि क्या इस घटना का फ्लेक्स विवाद से कोई लेना- देना तो नहीं है। घायल युवक का एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है।

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) आलोक कुमार ने पत्रकारों को बताया कि जिस व्यक्ति को चाकू मारा गया, वह राजस्थान का रहने वाला है और कपड़े की एक दुकान पर काम करता है। वह झड़पों में शामिल नहीं था लेकिन चार लोगों ने उसे चाकू मार दिया। चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। कुमार ने कहा, ‘‘हमने चार लोगों को गिरफ्तार किया है। 

छिहत्तरवें स्वतंत्रता दिवस समारोह के मद्देनजर एक समूह ने सावरकर का फ्लेक्स आमिर अहमद सर्कल पर लगे बिजली के खंभे के शीर्ष पर बांधने की कोशिश की थी, जिस पर दूसरे समूह ने आपत्ति जताई थी। दूसरा समूह वहां टीपू सुल्तान का फ्लेक्स लगाना चाहता था।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि कथित तौर पर कुछ लोगों द्वारा फ्लेक्स को बदलने या क्षतिग्रस्त करने का प्रयास किया गया था, जिससे क्षेत्र में तनावपूर्ण स्थिति पैदा हो गई, क्योंकि दोनों पक्षों के लोग बड़ी संख्या में वहां जमा हो गए थे। स्थिति को नियंत्रित करने और भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को हल्का लाठीचार्ज करना पड़ा। अधिकारियों ने उस स्थान पर राष्ट्रीय ध्वज लगा दिया है, जहां दोनों समूह फ्लेक्स लगाना चाहते थे।

भारतीय जनता पार्टी और अन्य हिंदू समूहों ने विरोध प्रदर्शन किया और मांग की कि उन्हें सावरकर का फ्लेक्स लगाने की अनुमति दी जाए और उनके आदर्श का अपमान करने के लिए दूसरे समूह के खिलाफ कार्रवाई की जाए। अधिकारियों ने क्षेत्र में अतिरिक्त बल तैनात कर दिया है और पूरे शहर में दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लगा दी है।

मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने कहा कि पुलिस ने शांति बहाली के लिए सभी उपाय किये हैं। उन्होंने बेंगलुरु में पत्रकारों से बातचीत में कहा, ‘यह घटना नहीं होनी चाहिए। मैंने अपराधियों और शांति भंग करने का प्रयास करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का आदेश दिया है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.