Friday, Dec 06, 2019
kartarpur corridor manmohan singh amarinder singh hardeep puri will part of 575 people

करतारपुर के पहले जत्थे में होंगे मनमोहन, अमरिंदर सिंह और हरदीप पुरी भी हैं 575 लोगों में शामिल

  • Updated on 10/30/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह (Manmohan Singh), पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) और केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी (Hardeep Singh Puri) उन 575 लोगों में शामिल हैं जो करतारपुर गलियारे (Kartarpur Corridor) के जरिये पाकिस्तान (Pakistan) में गुरुद्वारा दरबार साहिब (Gurudwara Darbar Sahib) जाने वाले पहले जत्थे का हिस्सा होंगे। केंद्र सरकार के सूत्रों ने मंगलवार को बताया कि भारत ने मंगलवार को 575 लोगों की सूची पाकिस्तान के साथ साझा की।

पाक ने ननकाना साहिब में अखंड पाठ से किया मना 
केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल (Harsimrat Kaur Badal) और पंजाब के सांसद और विधायक भी इस समूह का हिस्सा होंगे। ऐसी जानकारी मिली है कि पाकिस्तान ने शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी और दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रतिनिधियों के साथ पंजाब सरकार की अगुआई वाले समग्र प्रतिनिधिमंडल को अखंड पाठ (पवित्र ग्रंथ का संपूर्ण पाठ) और ननकाना साहिब में नगर कीर्तन आयोजित करने से मना कर दिया था।

श्रद्धालु समूह का नेतृत्व परमजीत सिंह सरना करेंगे
पंजाब सरकार के 31 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल और 450 भारतीय श्रद्धालुओं को वीजा नहीं दिया गया है जबकि भारत सरकार ने पाकिस्तानी उच्चायोग को इसके लिए अनुशंसा की थी। यह भी जानकारी मिली है कि पाकिस्तान ने खुद से श्रद्धालु समूह का नेतृत्व करने के लिए परमजीत सिंह सरना को चुनने का फैसला किया है।

पाकिस्तान ने भारत द्वारा दिए गए उस प्रस्ताव पर अब तक जवाब नहीं दिया है जिसमें 12 नवम्बर को ‘गुरुपर्व’ पर यात्रा करने वाले श्रद्धालुओं की संख्या 1974 के प्रोटोकॉल के तहत 3000 की जगह 10 हजार करने को कहा गया था। पाकिस्तान करतारपुर गलियारे का निर्माण गुरदासपुर जिले में डेरा बाबा नानक सेक्टर में भारतीय सीमा से पाकिस्तान में गुरुद्वारा दरबार साहिब तक कर रहा है।

अमरिंदर सिंह गुरुद्वारा दरबार साहिब के लिए जत्थे का नेतृत्व करेंगे
राज्य सरकार के सूत्रों ने बताया कि पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह गुरुद्वारा दरबार साहिब के लिए जत्थे का नेतृत्व करेंगे और ऐतिहासिक गुरुद्वारे में मत्था टेकने के बाद उसी दिन वापस लौट आएंगे। गुरुद्वारा दरबार साहिब में ही गुरु नानक देव ने अपने आखिरी दिन बिताए थे। जत्था सदस्यों में सभी दलों के नेता, संत समाज के नेता, प्रबुद्ध लोग, एनआरआई और पत्रकार शामिल हैं।

जत्थे में पंजाब के सभी 117 विधायक और 13 सांसद शामिल होंगे। राज्य सरकार के सूत्रों ने बताया कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा, मुकुल वासनिक, आरपीएन सिंह, जितेंद्र सिंह, ज्योतिरादित्य सिंधिया, कुमारी शैलजा, आशा कुमारी, रणदीप सुरजेवाला, दीपेंद्र हुड्डा, पीएल पूनिया, जितिन प्रसाद और आरसी खूंटिया भी करतारपुर जाने वाले भारतीय प्रतिनिधिमंडल का हिस्सा होंगे। भारत और पाकिस्तान ने श्रद्धालुओं के ऐतिहासिक गुरुद्वारे की यात्रा के लिए पहले ही एक समझौते पर हस्ताक्षर किया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.