Tuesday, Sep 25, 2018

कठुआ गैंगरेप केस: SC का पीड़िता के परिवार और वकील को सुरक्षा देने का निर्देश

  • Updated on 4/16/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कठुआ गैंगरेप और हत्या मामले में सुप्रीम कोर्ट ने पीड़िता के परिवार और उनका केस लड़ने वाली वकील दीपिका सिंह रजावत को सुरक्षा देने का निर्देश दिया है। बात दें कि इस मामले को लेकर पीड़ित परिवार और वकील को लगातार धमकियां मिल रही थीं। 

इराक में मारे गए 39 भारतीयों का ब्योरा सुषमा स्वराज के मंत्रालय के पास भी नहीं

कठुआ गैंगरेप और हत्या मामले में आठ लोगों को आरोपी बनाया गया है। इन पर आठ साल की लड़की से जनवरी में कठुआ के मंदिर में बंधक बनाकर रखने और नशीला पदार्थ देकर उसके साथ गैंग रेप करने और बाद में उसकी हत्या करने का आरोप है। आरोपियों में एक नाबालिग भी है, जिसके खिलाफ एक अलग आरोपपत्र दायर किया गया है। 

फीमेल प्रोफेसर से छेड़खानी के चक्कर में धरा गया सेना का कैप्टन

अपराध शाखा के आरोपपत्रों के मुताबिक बकरवाल समुदाय की लड़की का अपहरण, रेप और हत्या एक सुनियोजित साजिश के तहत हुई। ताकि इस अल्पसंख्यक समुदाय को इलाके से हटाया जा सके। इसमें कठुआ के एक छोटे गांव के एक मंदिर का पुजारी इस अपराध का मुख्य साजिशकर्ता बताया गया है।

हेमा मालिनी ने किया बच्चियों से रेप के दोषी को मौत की सजा का समर्थन

पुजारी सांजी राम ने कथित रूप से विशेष पुलिस अधिकारी दीपक खजूरिया और सुरेंद्र वर्मा, मित्र प्रवेश कुमार उर्फ मन्नु, राम के भतीजे एक नाबालिग और उसके बेटे विशाल उर्फ ‘शम्मा ’ के साथ मिलकर इस अपराध को अंजाम दिया।

सलमान खान के क्रिमिनल लिस्ट में शामिल होने से 'रेस 3' के प्रोड्यूसर को लगा झटका

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.