Monday, Nov 28, 2022
-->
kejriwal aap retaliated on pm modi remarks about distributing ravadis

पीएम मोदी के रेवड़ियां बांटने वाले बयान को लेकर केजरीवाल ने किया पलटवार

  • Updated on 7/16/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रेवड़ियां बांटने वाले बयान को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पलटवार किया है। केजरीवाल ने जनता से सवाल किया कि क्या मुफ्त शिक्षा, स्वास्थ्य और बिजली जैसी सुविधाएं आम नागरिकों को देना रेवड़ियां बांटना है? बता दें कि पीएम मोदी ने बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे के उद्घाटन के मौके पर सरकारों द्वारा मुफ्त सुविधाएं देने को लेकर अन्य सियासी दलों पर निशाना साधा था।

राज ठाकरे से मिलने के बाद फडणवीस बोले- महाराष्ट्र में कोई ‘सुपर सीएम’ नहीं

  •  

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा,  'मैं आपको बताता हूं कि मुफ्त रेवड़ी बांटना क्या होता है। कंपनी ने कई बैंकों से लोन लिया, उसे लौटाया नहीं, बैंक दिवालिया हो गए और उस कंपनी ने एक राजनीतिक पार्टी को चंदा दे दिया, चंद करोड़ रुपये का। उस कंपनी के खिलाफ सरकार ने कोई एक्शन नहीं लिया। इसको कहते हैं फ्री की रेवड़ी। जब आप अपने दोस्तों के हजारों हजार करोड़ रुपए केलोन मुफ्त में माफ कर देते हैं, यह है मुफ्त की रेवड़ी। जब आप विदेश यात्रा पर जाने के बहाने अपने चंद दोस्तों के के ठेके लेते हैं, विदेशी सरकारों से यह होती है मुफ्त रेवड़ी। आज देश में दो तरह की राजनीति चल रही है एक इमानदार दूसरी भ्रष्ट। ईमानदार राजनीति वह है जो आम आदमी पार्टी कर रही है एक एक चीज में पैसा बचाते हैं। दूसरी है भ्रष्टाचारियों की राजनीति जिसमें हजारों करोड़ रुपए के ठेके दिए जाते हैं। अपने दोस्तों को ठेके दिए जाते हैं। सारी सुविधाएं अपने मंत्रियों को देते हैं और जनता सुविधा मांग ले तो कहते हैं यह मुफ्त की रेवड़ी है।

कांग्रेस का कटाक्ष, कहा- प्रधानमंत्री मोदी रुपये के लिए हानिकारक हैं


केजरीवाल ने जनता को संबोधित करते हुए कहा कि हमारी सरकार सरकारी स्कूलों में लाखों बच्चों को बेहतरीन शिक्षा दे रही है। इतिहास में पहली बार 99 फीसदी का परिणाम आया है। पिछले कुछ साल में 4 लाख के करीब बच्चे प्राइवेट स्कूलों से सरकारी स्कूलों में आए हैं। सरकारी स्कूल का एक बच्चा गगन आज धनबाद के आईआईटीएम में सिलेक्ट हो गया है। दिल्ली के सरकारी अस्पताल शानदार हो गए हैं। मोहल्ला क्लीनिक पूरी दुनिया में चर्चा का विषय है। एक-एक आदमी का इलाज मुफ्त है। फिर चाहे 50 लाख खर्च हो, तो क्या हम रेवड़ियां बांट रहे हैं।

रुबैया सईद ने यासीन मलिक और 3 अन्य की पहचान अपने अपहरणकर्ताओं के रूप में की 

उन्होंने कहा, हम अगर 200 यूनिट बिजली फ्री देते हैं, बसों में महिलाओं को मुफ्त यात्रा करवा रहे हैं, तीर्थस्थानों पर बुजुर्गों को भेज रहे हैं, तो इसमें गलत क्या है। रेवड़ियां तो वो लोग बांट रहे हैं, जो अपने लिए हजारों करोड़ रुपये का विमान खरीद रहे हैं। अगर मंत्रियों के घर 3-4 हजार यूनिट मुफ्त बिजली दे रहे हैं और अगर केजरीवाल यह सुविधा आम जनता को दे रहा है तो गलत क्या कर रहा है।

लुलु मॉल में नमाज अदा करने के मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.