Sunday, Nov 27, 2022
-->
kejriwal-announcement-delhi-sports-university-will-give-degree-players-to-help-them-in-job

केजरीवाल का ऐलान - दिल्ली खेल विश्वविद्यालय नौकरी में मदद के लिए खिलाड़ियों को देगा डिग्री 

  • Updated on 6/24/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को कहा कि आगामी दिल्ली खेल विश्वविद्यालय खिलाडिय़ों को डिग्री प्रदान करेगा ताकि अगर वे काम करना चाहते हैं, तो इससे उन्हें नौकरी में मदद मिल सके।  केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार ने खिलाडिय़ों के सामने आने वाली तीन कठिनाइयों यानी सुविधाओं की कमी, वित्तीय सहायता की कमी और चयन प्रक्रियाओं में राजनीतिक हस्तक्षेप को खत्म कर दिया है।   

शरद पवार ने किया साफ- ठाकरे सरकार के भाग्य का फैसला होगा विधानसभा में

 उन्होंने यहां खिलाडिय़ों को वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए आयोजित समारोह में कहा,‘‘दिल्ली खेल विश्वविद्यालय में, खिलाडिय़ों को उनके संबंधित खेलों में डिग्री प्रदान की जाएगी जैसे कबड्डी में बीए, कुश्ती में बीए और क्रिकेट में बीए आदि। इससे उन्हें काम करने में मदद मिलेगी।‘’ केजरीवाल ने कहा,‘’‘मिशन एक्सीलेंस’ के तहत खिलाडिय़ों को वित्तीय सहायता दी जा रही है। हमने खेल सुविधाओं में सुधार किया है और यहां योजनाओं के लिए खिलाडिय़ों के चयन में कोई राजनीतिक हस्तक्षेप नहीं है।‘‘   

कोर्ट को ED ने कार्ति के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई नहीं करने का दिया भरोसा

  उन्होंने कहा,‘‘खिलाडिय़ों के लिए खेल और करियर के बीच दुविधा का सामना करना काफी आम है। उन्हें पढ़ाई छोडऩी पड़ती है और अगर वे खेल में सफलता हासिल करने में असमर्थ हैं, तो उनके लिए नौकरी पाना बहुत मुश्किल हो जाता है।‘‘   

अपने बयान से पलटे एकनाथ शिंदे, बोले- कोई राष्ट्रीय दल हमारे संपर्क में नहीं

 केजरीवाल ने कहा,‘‘नियोक्ता उनसे पूछता है कि उनकी शैक्षिक योग्यता क्या है और यदि उनके पास स्नातक की डिग्री होगी तो उन्हें इसके बारे में चिंता करने की आवश्यकता नहीं होगी। आप जो भी खेल चुनते हैं, आपको उसी में डिग्री मिलेगी और आप किसी भी नौकरी के लिए आवेदन करने के योग्य होंगे।‘‘  इस योजना के तहत शुक्रवार को 60 खिलाडिय़ों को 9.5 करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता दी गई।   

गुजरात दंगों पर झूठे खुलासे करने के लिए असंतुष्ट अधिकारियों को कटघरे में खड़ा करें: सुप्रीम कोर्ट

  •  

  केजरीवाल ने कहा,‘‘योजना के पहले वर्ष में, हमने 117 खिलाडिय़ों को उनकी प्रतिभा निखारने के लिए 9.51 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता वितरित की है। हम एक ऐसे भारत का सपना देख रहे हैं, जिसमें खिलाड़ी अंतरराष्ट्रीय आयोजनों में चीन और अमेरिका से अधिक पदक लेकर आएं। हम प्रतिभाशाली खिलाडिय़ों के लिए धन की कोई कमी नहीं होने देंगे। हमें देश को गौरवान्वित करना होगा।‘‘     

comments

.
.
.
.
.