Wednesday, Oct 27, 2021
-->
kejriwal govt proposal in states joint meeting to control delhi pollution kmbsnt

दिल्ली प्रदूषण: पड़ोसी राज्यों में पटाखे बैन,पब्लिक ट्रांस्टपोर्ट CNG... ये हैं सरकार के प्रस्ताव

  • Updated on 9/23/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली और उत्तर भारत के राज्यों में होने वाले प्रदूषण को इस साल कंट्रोल करने के लिए राज्यों की ज्वाइंट बैठक के बाद दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान उन्होंने दिल्ली सरकार की ओर से बैठक में रखे गए प्रस्तावों के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि दिल्ली में सर्दियों में होने वाले प्रदूषण का मुख्य कारण पड़ोसी राज्यों में जलने वाली पराली होती है। 

उन्होंने बताया कि बैठक के दौरान पड़ोसी राज्य इस बार पराली जलाने के स्थान पर बायो-डीकंपोजर के उपयोग के लिए मान गए हैं। लेकिन राज्यों को कहना है कि वो किसानों को कैप्सूल मुहैया करवाएंगे। गोपाल राय ने कहा कि राज्य सरकारों को दिल्ली सरकार की तरह कैप्सूल का घोल बनाकर खेतों में उसके छिड़काव तक की पूरी जिम्मेदारी लेनी चाहिए। 

प्रदर्शनकारी किसानों को नहीं हटाने के लिए अधिकारियों के खिलाफ अवमानना याचिका दायर

पड़ोसी राज्यों में भी पटाखे हो बैन- गोपाल राय
इसके साथ ही दिल्ली सरकार की ओर से पड़ोसी राज्यों में भी पटाखे बैन करने का प्रस्ताव रखा गया। जिससे दिल्ली के लोग वहां से पटाखे न खरीदें। साथ ही वहां जलने वाले पटाखों का बुरा असर दिल्ली पर न पड़े। 

NCR का पब्लिक ट्रांस्पोर्ट पूरी तरह से हो सीएनजी
इसके साथ दिल्ली सरकार ने राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में पब्लिक ट्रांस्पोर्ट को पूरी तरह से सीएनजी बेस्ड करने का प्रस्ताव रखा है। गोपाल राय ने बताया कि दिल्ली में पूरा पब्लिक ट्रांस्पोर्ट सीएनजी से चलता है। ऐसे में एनसीआर के वाहन दिल्ली आते-जाते हैं तो वो प्रदूषण का कराण बनते हैं। इसलिए अगर एनसीआर का पब्लिक ट्रांस्पोर्ट भी सीएनजी से चलेगा तो प्रदूषण कम होने की संभावना बढ़ेगी। 

चाइनीज कंपनी से नहीं होगी अब सीसीटीवी कैमरों की खरीद

'रेड लाइट ऑन गाड़ी ऑफ' फार्मूला अपनाएं पड़ोसी राज्य
इसके अलावा दिल्ली सरकार के द्वारा पिछले साल शुरू किया गया अभियान 'रेड लाइट ऑन गाड़ी ऑफ' को भी पड़ोसी राज्य अपनाए तो प्रदूषण से लड़ने में मदद मिलेगी। वहीं Thermal Plants बंद करने, पेड़ लगाने और ईवी पॉलिसी अपनाने का प्रस्ताव भी केजरीवाल सरकार की ओर से बैठक में रखा गया है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.