Tuesday, Jul 23, 2019

केजरीवाल ने कहा, हरियाणा सिंचाई का पानी हमसे ले और पेयजल हमें दे

  • Updated on 7/9/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने सोमवार को ओखला में देश के सबसे बड़े सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट (एसटीपी) का शिलान्यास किया। इसे 1,161 करोड़ की लागत से तैयार किया जाएगा। यह एसटीपी रोजाना 56.4 करोड़ लीटर अशोधित जल का शोधन करेगा।

Image result for सबसे बड़े सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट (एसटीपी) का शिलान्यास

केंद्र सरकार ने दी 85 प्रतिशत राशि
करीब साढ़े तीन वर्ष में इस एसटीपी के बनकर चालू होने की उम्मीद है। इससे यमुना में बहाए जाने वाले सीवेज की मात्रा में बड़े स्तर पर कमी आने की उम्मीद है। इस परियोजना के लिए केंद्र सरकार ने 85 प्रतिशत राशि दी है। केजरीवाल ने कहा कि केंद्र सरकार के सहयोग के लिए बहुत-बहुत शुक्रिया। उन्होंने कहा कि मुझे विश्वाास है कि हम मिलकर यमुना नदी को साफ  करने में जरूर कामयाब होंगे।

Image result for सबसे बड़े सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट (एसटीपी) का शिलान्यास

रोजाना 56.4 करोड़ लीटर गंदे पानी को ट्रीट करेगा
केजरीवाल ने कहा कि यह एसटीपी रोजाना 56.4 करोड़ लीटर गंदे पानी को ट्रीट करेगा। लेकिन रोजाना 56.4 करोड़ लीटर शोधित पानी के इस्तेमाल का अभी तक कोई प्लान नहीं बन सका है। मैंने इंजीनियर्स से पूछा तो पता चला कि इस पानी को यमुना में बहा दिया जाएगा। लेकिन इस पानी को हम बर्बाद नहीं कर सकते। उन्होंने कहा कि हरियाणा के बॉर्डर वाले इलाकों में सिंचाई के लिए पानी की बहुत दिक्कत है। अगर हम यहां से निकलने वाला रोजाना 56.4 करोड़ लीटर पानी हरियाणा को दें तो वहां ये सिंचाई के लिए इस्तेमाल हो सकता है। बदले में इतना ही पानी हरियाणा हमें दे दे। इससे दिल्ली और हरियाणा दोनों का फायदा होगा।

Image result for सबसे बड़े सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट (एसटीपी) का शिलान्यास

पानी के विवेकपूर्ण इस्तेमाल की जरूरत : शेखावत 
केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा कि दिल्ली के लिए यह ऐतिहासिक अवसर है। पानी की कमी हम लोगों के लिए वाकई में चिंता का विषय है। प्रत्येक व्यक्ति को अपनी जिम्मेदारी समझनी पड़ेगी। जल संकट से निपटने के लिए हमें वाटर हार्वेस्टिंग और ग्राउंड वाटर रिचार्ज पर बहुत जोर देने की जरूरत है। हमें इसको आम आदमी का आंदोलन बनना होगा।  हमें देखना होगा कि यहां से निकलने वाले पानी का हम इंडस्ट्री में कैसे इस्तेमाल कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि केजरीवाल को इस बात के लिए बधाई देना चाहता हूं कि उन्होंने यमुना में वाटर रिचार्ज के लिए एक बड़ी योजना अपने हाथ में ली है। हम लोग सब मिलकर काम करेंगे।

Image result for सबसे बड़े सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट (एसटीपी) का शिलान्यास

भारत सरकार का नाम न होने पर नाराजगी
कार्यक्रम में पहुंचे केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने केवल मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की तस्वीर वाले पोस्टर को लेकर तंज कसा। शेखावत ने कहा कि इस सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट के लिए 85 प्रतिशत फंड केंद्र सरकार दे रही है। ऐसे में पोस्टर में भारत सरकार का जिक्र भी होना चाहिए था, लेकिन दिल्ली सरकार ने केवल अपना ही जिक्र किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.