Saturday, Dec 04, 2021
-->
know what is the connection of your zodiac and health pragnt

जानिए आपकी राशि और स्वास्थ्य का क्या है कनेक्शन ?

  • Updated on 3/25/2021

नई दिल्ली/ पं. कमल राधाकृष्ण श्रीमाली। क्या आप जानते हैं कि आपकी राशि का आपके स्वास्थ्य और खानपान पर अच्छा या बुरा प्रभाव निश्चित रूप से पड़ता है? भिन्न-भिन्न राशियों पर यह प्रभाव देखें एक नजर में :

अगर आपको बार- बार लग जाती हैं नजर तो अपनाए ये अचूक उपाय

मेष : यह राशि व्यक्ति के सिर, मस्तिष्क, खोपड़ी, बाहरी कान, नाक और चेहरे की त्वचा पर अधिकार रखती है इसलिए मेष राशि वाले स्त्री-पुरुष प्राय: सिरदर्द से परेशान रहते हैं। उनके क्रोधित होने पर उनका रक्तचाप बढ़ जाता है और सिर में दर्द होने लगता है। उनका तनाव सिर से आरम्भ होकर सिर में ही खत्म हो जाता है। मेष राशि वालों को प्रतिवर्ष अपने स्वास्थ्य की जांच करवाते रहना चाहिए। यह उनके लिए अत्यंत आवश्यक है।

वृष : इस राशि वाले खानपान के बहुत शौकीन होते हैं। यह शौक उनकी समस्या का कारण भी बन जाता है। खाने-पीने की अधिकता से उनकी तोंद निकल आती है, मोटापा या वजन भी बढ़ जाता है। गले की समस्या भी उन्हें तंग करती है। आवाज में भारीपन आ जाता है। सर्दी उन्हें जकड़े रहती है। इस राशि के स्त्री-पुरुष खानपान में बिल्कुल परहेज नहीं करते। हमेशा उनका मुंह चलता ही रहता है।

मिथुन : इस राशि वालों का नाड़ी तंत्र उनके नियंत्रण में रहता है इसलिए वे कम समय में अधिक से अधिक कार्य जल्दी कर डालना चाहते हैं। परिणामत: वे अपने नाड़ी तंत्र पर अधिक दबाव डालते हैं। हाथ, बांहें, कंधे और फेफड़े की समस्या से परेशान रहते हैं। यदि घायल हो जाएं या चोट लग जाए तो जल्दी ही ठीक हो जाती है।  इनका स्वास्थ्य डगमगाता नहीं। यदि नियमित रूप से प्रतिदिन एक घंटे तक योगाभ्यास करें अथवा ध्यान करें तो अपनी समस्याओं से छुटकारा पा सकते हैं और स्वास्थ्य में भी लाभ पहुंचता है।

दादी गुलजार ने सिखाया, जीवन में 'लेकिन' न हो तभी आएगा जीने का मजा

कर्क : इस राशि वालों को बदहजमी और पेट आदि की समस्याएं तंग करती हैं। कर्क राशि का अधिकार  जातक के गाल, आंखों, चेहरे, गर्भाशय और पेट पर होता है। शारीरिक रूप से वे भावनात्मक समस्याओं से परेशान रहते हैं। उन्हें अपनी भावनाओं पर नियंत्रण अवश्य रखना चाहिए।

सिंह : इस राशि का अधिकार व्यक्ति के हृदय तथा रक्त संचालन पर होता है। सिंह एक निर्धारित प्रतीक है। सिंह राशि वाले निश्चित राय, कल्पना तथा मार्ग वाले होते हैं, जिनका स्वामित्व वे स्वयं करते हैं, इनके लिए निराशा घातक सिद्ध हो सकती है। ये लोग अधिकतर दिल की समस्याओं से पीड़ित होते हैं। उन्हें ताजा हवा, भ्रमण और जॉगिंग नियमित रूप से करनी चाहिए।

कन्या : इस राशि वाले स्वास्थ्य के प्रति बहुत जागरूक तथा सतर्क रहते हैं। विषाणुओं के फैलने का डर उन्हें हमेशा सताता रहता है इसलिए वे बार-बार हाथ धोते रहते हैं। इनके लिए शाकाहारी भोजन लाभदायक होता है। कन्या राशि का अधिकार स्त्री-पुरुष के यकृत और पाचन रस की थैली पर होता है। कई लोग बदहजमी की समस्या से भी परेशान रहते हैं।

शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या में कष्ट निवारण के विशेष उपाय

तुला : इस राशि वाले सौंदर्य एवं बुद्धि के धनी होते हैं। उनकी प्रतिभा का कारण उनका आंतरिक सौंदर्य होता है। उनकी शारीरिक त्वचा अच्छी होती है परंतु कील-मुहांसों से परेशान रहते हैं। गुर्दे की समस्या, बेहोशी, थकान से कई लोग पीड़ित रहते हैं। ताजे फल, ताजा हरी सब्जियां, कच्चे अनाज का सेवन उनके लिए लाभदायक होता है।

वृश्चिक : इस राशि वाले बड़ी आंत की समस्या और कब्ज से भी पीड़ित रहते हैं। इन समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए उन्हें रेशे वाले यानी फाइबर युक्त खाद्य पदार्थों का नियमित सेवन करना चाहिए। इनमें संतान उत्पत्ति की अधिकता बनी रहती है। कामुकता के कारण कई तरह के यौन संक्रमित रोगों से ग्रस्त होने का खतरा हमेशा बना रहता है।

धनु : इस राशि वालों का स्वामी बृहस्पति है इसलिए किसी भी बीमारी या पीड़ा से ग्रस्त होने पर भी वे जल्दी ठीक हो जाते हैं। राशि का प्रभाव कूल्हे वाले भाग पर अधिक पड़ता है। जांघ, कूल्हे या पैल्विस यानी वस्ती प्रदेश के चोटिल होने का खतरा उनमें बराबर बना रहता है।

चरण स्पर्श करने से जुड़ा है ये रहस्य, होते हैं इतने लाभ

मकर : इस राशि वाले स्वास्थ्य की परेशानियों से घिरे रहते हैं। पित्ताशय की सूजन, घुटने की चोट आदि से वे प्राय: ग्रस्त रहते हैं। उन्हें अपने स्वास्थ्य में सुधार लाने के लिए तैरना, घुड़सवारी एवं नियमित प्राणायाम करना चाहिए परन्तु उनके लिए टहलना और पैदल भ्रमण करना हानिकारक हो सकता है।

कुंभ : इस राशि वाले स्टार्च वाला खानपान अधिक पसंद करते हैं। उचित मात्रा में ऐसा खान-पान उनके स्वास्थ्य को लाभ पहुंचाता है परंतु इस राशि के स्त्री-पुरुष खाने-पीने की चीजों पर टूट पड़ते हैं जो उनके लिए एक या अनेक समस्याएं पैदा कर देती है। आमतौर पर ये लोग खाने-पीने के बाद आधा घंटे से लेकर एक घंटे के बीच सो जाते हैं क्योंकि उनके खान-पान में स्टार्च की मात्रा अधिक होती है। उनके लिए सलाद और ताजा फलों का नियमित सेवन लाभदायक है।

मीन : इस राशि के लोग भोजन प्रेमी होते हैं लेकिन इनका पाचन तंत्र इन्हें अधिक भोजन की इजाजत नहीं देता। इस राशि की महिलाओं को ऊंची एड़ी की चप्पल नहीं पहननी चाहिए। इस राशि के लोगों को भारी जलपान करना चाहिए जिसमें शहद और दूध जरूर हो। इन्हें केला या संतरा खाने की सलाह दी जाती है। दिन का भोजन छोड़ कर इन्हें फलों का जूस पीना चाहिए। प्रात: भ्रमण अथवा सायं भ्रमण नियमित रूप से करना उनके स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है। 

यहां पढ़ें धर्म की अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.