Thursday, Jan 20, 2022
-->
know-why-rakesh-tikait-said-that-the-farmers-movement-is-running-behind-one-and-a-half-years

जानिए क्यों राकेश टिकैत ने कहा डेढ साल पीछे चल रहा है किसान आंदोलन

  • Updated on 11/26/2021

नई दिल्ली/टीम डिजीटल। 26 नवंबर 2020 यानि ठीक एक साल पहले शुरू हुआ था किसान आंदोलन। शुक्रवार को एक साल पूरा होने पर गाजीपुर बॉर्डर पर बड़ी संख्या में किसान पहुंचे। लेकिन भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता व किसान आंदोलन के प्रमुख चेहरे राकेश टिकैत इससे इत्तेफाक नहीं रखते कि आंदोलन को एक साल ही हुआ है। उनका कहना है कि किसान आंदोलन तो दरअसल डेढ साल पीछे चल रहा है। कृषि कानूनों को वापस लिए जाने की मांग अहम तो थी, लेकिन एमएसपी से ज्यादा नहीं। एमएसपी पर गारंटी किसानों की पुरानी मांग है। इस मांग का पूरा होना जरूरी है। इसलिए जब तक एमएसपी पर कानून नहीं बनेगा, किसान घर वापस नहीं जाएगा। 

मोदी जी ने एमएसपी पर पीएचडी कर रखी है, वही समाधान देंगे
शुक्रवार को गाजीपुर बॉर्डर पर मंच से बोलते हुए राकेश टिकैत केन्द्र सरकार पर जमकर बरसे। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने तो एमएसपी पर पीएचडी कर रखी है। इसलिए इस कानून को लेकर वह बेहतर फैसला ले सकते हैं। राकेश टिकैत ने कहा कि 2011 में एमएसपी को लेकिन एक कमेटी बनी थी। जिसमें पीएम मोदी भी हिस्सा थे। उस वक्त वह गुजरात के सीएम हुआ करते थे। वह कमेटी में एमएसपी को लागू करने के समर्थक थे। उन्होंने खुद वादा किया था कि सरकार किसानों की आय को बढाएगी। लेकिन ऐसा हुआ नहीं।

किसानों को 10 दिनों तक संयम बरतने को कहा
भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने भाजपा आईटी सेल को भी अपने निशाने पर लिया। उन्होंने कहा कि अभी 10 दिनों तक सोशल मीडिया पर किसानों को फिर से बदनाम करने की कोशिश की जाएगी। कहा जाएगा कि कानून रद्द कर दिए अब तो उठ जाओ। लेकिन इन 10 दिनों तक संयम बरतना है। ताकि आंदोलन को कोई नुकसान ना हो। 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.