Monday, Aug 02, 2021
-->
kolkata high court will hear on mamata banerjee''''s petition regarding nandigram elections prshnt

नंदीग्राम चुनाव को लेकर ममता बनर्जी की याचिका पर कोलकाता हाईकोर्ट में आज सुनवाई

  • Updated on 6/18/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। विधानसभा चुनाव का नतीजा आने के बाद भी नंदीग्राम सीट को लेकर पश्च‍िम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बीजेपी नेता शुभेंदु अधिकारी की जीत को कलकत्ता हाईकोर्ट में चुनौती दी है। इस मामले में सुनवाई होनी है, हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में नंदीग्राम सीट पर बीजेपी नेता शुभेंदु अधिकारी ने ममता बनर्जी को 2,000 से वोटों से हराया था, चुनाव आयोग ने नंदीग्राम विधानसभा सीट पर फिर से मतगणना कराने के तृणमूल कांग्रेस के अनुरोध को खारिज कर दिया था। जिसके बाद ममता बनर्जी ने कलकत्ता हाईकोर्ट की ओर रुख किया है।

राहुल का मोदी सरकार पर तंज, कहा- पेट्रोल-डीजल के दाम ना बढ़ें तो ज्यादा बड़ी खबर बन जाती है!

नरेंद्र मोदी को तीन बार लिखा पत्र
बता दें कि इससे पहले पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बृहस्पतिवार को राज्यपाल जगदीप धनखड़ की नयी दिल्ली यात्रा पर कटाक्ष किया और कहा कि ‘‘एक बच्चे को मनाकर चुप कराया जा सकता है लेकिन एक वृद्ध व्यक्ति को नहीं। बनर्जी ने साथ ही यह भी कहा कि उन्होंने राज्यपाल को राज्य से वापस बुलाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को तीन बार पत्र लिखा है। 

राज्यपाल को केंद्र का व्यक्ति’’ बताते हुए बनर्जी ने राजधानी दिल्ली में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और कई अन्य केंद्रीय मंत्रियों के साथ उनकी बैठक पर अधिक टिप्पणी करने से परहेज किया। उन्होंने कहा, मैं क्या कह सकती हूं? एक बच्चे को मनाकर चुप कराया जा सकता है। इस मामले में, बोलना चांदी है, मौन सोना है।

कांग्रेस बोली- आलोचना से डरी मोदी सरकार सोशल मीडिया मंचों पर तालाबंदी करने की फिराक में  

राज्य सरकार से ली जाती है सलाह
राज्यपाल को हटाये जाने संबंधी अटकलों के बारे में मीडिया में आयी खबरों के बारे में पूछे जाने पर बनर्जी ने कहा कि उन्हें इस तरह के किसी घटनाक्रम की जानकारी नहीं है। उन्होंने कहा, मुझे कैसे पता चलेगा? जब राज्यपाल की नियुक्ति होती है, तो राज्य सरकार से सलाह ली जाती है। हालांकि, इस मामले में ऐसा नहीं किया गया, मैंने प्रधानमंत्री को दो या तीन बार पत्र लिखकर राज्य से उन्हें वापस बुलाये जाने की मांग की है।

2019 में राज्य के राज्यपाल के रूप में कार्यभार संभालने के बाद से धनखड़ के तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) सरकार के साथ संबंध तनावपूर्ण रहे हैं। वह चार दिवसीय यात्रा पर राष्ट्रीय राजधानी में हैं। उन्होंने अपने इस दौरे का कोई कारण नहीं बताया है। राज्यपाल ने बुधवार को केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी और प्रह्लाद सिंह पटेल से मुलाकात की। उन्होंने इससे पहले दिन में राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के साथ बैठक भी की। धनखड़ का दिन में बाद में गृह मंत्री अमित शाह से मिलने का कार्यक्रम है। 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.