Friday, Dec 09, 2022
-->
kumar vishwas request amit shah bjp long queues liquor shops coronavirus lockdown delhi rkdsnt

लॉकडाउन में शराब के ठेकों पर लंबी कतारें, कुमार विश्वास ने शाह से की ये गुजारिश

  • Updated on 5/4/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कोरोना लॉकडाउन 3.0 में केंद्र की मोदी सरकार ने कुछ आर्थिक गतिविधियों पर सशर्त छूट दी है। लेकिन, अब इसका दुरुपयोग भी होने लगा है। लोग सोशल डिस्टेंसिंग को भी भूल बैठे हैं। खास बात है कि शराब के ठेकों के बाहर तो लंबी कतारें लगनी शुरू हो गई हैं। इससे सरकारों को राजस्व का तो फायदा हो रहा है, लेकिन समाज में अव्यवस्था फैलना के डर बन गया है। इसको लेकर आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता व कवि कुमार विश्वास ने तंज भी कसा और अमित शाह के गृह मंत्रालय से गुहार भी लगाई है। 

सोनिया गांधी के बाद जावेद अख्तर को भी रास नहीं आई प्रवासी मजदूरों की बेरुखी

अखिलेश ने पूछा- कोरोना में बढ़ती परेशानियों के बीच हवाई जहाज से पुष्प वर्षा का क्या औचित्य?

कुमार विश्वास ने शराबियों को आड़े हाथ लेते हुए गृहमंत्रालय से उनके आधार कार्ड नोट करने की अपील की है, ताकि राशन के लिए पैसा नहीं होने का वे बहाना ना कर  सकें। इसके साथ ही उन्होंने शायर मेराज फ़ैज़ाबादी का एक शेर भी शेयर किया है। 'मैकदे में किसने कितनी पी ख़ुदा जाने मगर, मैकदा तो मेरी बस्ती के कई घर पी गया..!”

लॉकडाउन 3.0: गुजरात के सूरत में मजदूरों पर पुलिस लाठीचार्ज, प्रियंका ने कसा तंज

अपने ट्वीट में कुमार लिखते हैं, अनुरोध है @HMOIndia से कि संकटकाल में प्राण हथेली पर रख कर भयानक-भीड़ के रूप में इकट्ठा हुए इन महान “शराबी-करदाताओं” के आधार-कार्ड नोट कर लें ताकि आगे ये कभी “राशन के लिए भी पैसा नहीं है” जैसे बहाने न कर सकें, हम न सुधरे थे न सुधरेंगे एक हम हैं जो 50 दिन से ताले में हैं एक ये हैं।'

मुनव्वर राणा का CDS रावत पर तंज- कोरोना वायरस पुलवामा नहीं है, ये तो दवाओं से ही ख़त्म होगा

बता दें कि दिल्ली समेत बहुत से राज्यों में शराब की दुकानें खोल दी गई हैं। इसको लेकर सोशल मीडिया में सवाल भी उठ रहे हैं कि आखिर इससे सरकार का राजस्व तो बढ़ जाएगा, लेकिन शराबियों की वजह से परिवारों को कष्ट झेलना पड़ सकता है। गरीबों के लिए तो शराब दोहरी मार की तरह साबित हो सकती है।

RSS को प्रतिबंधित करने के खिलाफ हैं कांगेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी

comments

.
.
.
.
.