kyrgyzstan-to-go-to-oman-firah-waters-on-pakistan-s-mansobo

ओमान के रास्ते जाएंगे किर्गिस्तान मोदी, पाकिस्तान के मंसूबों पर फिरा पानी

  • Updated on 6/12/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। किर्गिस्तान(kirgistan) में होने वाली sco की बैठक में हिस्सा लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(narendra modi) अब पाकिस्तान(pakistan) के रास्ते नहीं जाएंगे। अब वे ओमान(oman) के रास्ते किर्गिस्तान पहुंचेंगे। 13 जून को शुरु होने वाली बैठक में 8 देश शामिल होंगे। हालांकि पाकिस्तान ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए अपने हवाई क्षेत्र को खोलने का घोषणा किया था।

प. बंगालः प्रदर्शन कर रहे भाजपा कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने दागे आंसू गैस के गोले

किर्गिस्तान के बिश्केक में होने वाली बैठक में 2017 में भारत और पाकिस्तान को शामिल किया गया था। अमेरिका के ईरान पर प्रतिबंध और भारत को ईरान से तेल नहीं खरीदने की चेतावनी का मुद्दा भी इस शिखर सम्मेलन में उठ सकता है। हालांकि अमेरिका के दवाब में ईरान से तेल खरीदना बंद कर दिया है। इतना ही नहीं अमेरिका ने भारत को व्यापारिक तरजीह वाला दर्जा से हटा दिया है।

लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दुबारा सत्ता में आने के बाद यह उनकी पहली शिखर सम्मेलन होगी जहां पाकिस्तान भी अपनी उपस्थिति दर्ज करेगा। चीन ने यह कह कर भारत पर दवाब बना दिया है कि SCO सम्मेलन का उपयोग आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान को घेरने के लिए न करें।


रैपिड रेल परियोजना के लिए केजरीवाल सरकार ने किया फंड जारी, बीजेपी ने कहा चुनावी यू-टर्न

लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने पहले विदेशी दौरा के लिए जब हाल ही में मालदीव और श्रीलंका पहुंचे थे तो परोक्ष रुप से आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान की ढ़ुलमुल नीति का आलोचना किया था। जिसके बाद इस महत्वपूर्ण बैठक पर विश्व की नजर रहेगी। हालांकि भारत ने साफ कर दिया है कि भारत और पाकिस्तान के बीच कोई द्विपक्षीय बैठक की योजना नहीं है। पुलवामा हमले के बाद से ही भारत और पाकिस्तान के आपसी रिश्ते सहीं नहीं है। पाकिस्तान ने वैसे तो भारत से बातचीत के लिए कई बार आमंत्रण दिया। लेकिन भारत ने इसका कोई सकारात्मक जवाब नहीं दिया।   
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.