Friday, Dec 03, 2021
-->
lakhimpur kheri case main accused ashish mishra shifted from hospital to up jail rkdsnt

लखीमपुर खीरी कांड : मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा अस्पताल से जेल ट्रांसफर

  • Updated on 10/26/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। लखीमपुर खीरी कांड के मुख्य आरोपी और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के पुत्र आशीष मिश्रा को तबीयत में सुधार होने पर मंगलवार को दोबारा जेल भेज दिया गया। जिला जेल अधीक्षक पी. पी. सिंह ने यहां बताया कि तबीयत में सुधार होने के मद्देनजर आशीष को फिर से जिला कारागार में स्थानांतरित कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि आशीष को पिछले रविवार को डेंगू से ग्रस्त होने के कारण जेल से जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जिला अस्पताल के डॉक्टरों के एक पैनल ने जांच में उसकी रक्त शर्करा का स्तर भी अधिक पाया था। 

भाजपा के खिलाफ विपक्ष की एकता के लिए अनिश्चितकाल तक कांग्रेस का इंतजार नहीं कर सकती TMC

सिंह ने बताया कि अब आशीष का जेल अस्पताल में जिला चिकित्सालय के चिकित्सकों के पैनल के परामर्श के अनुरूप इलाज किया जाएगा। ज्ञातव्य है कि तीन अक्टूबर को लखीमपुर खीरी जिले के तिकोनिया इलाके में किसानों के प्रदर्शन के दौरान हुई ङ्क्षहसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई थी। इस मामले में आशीष तथा 15-20 अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया था। इस सिलसिले में अब तक आशीष समेत 13 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। 

पंजाब विधानसभा चुनाव के मद्देनजर अमरिंदर सिंह की नई पार्टी को लेकर अटकलें तेज

किसानों ने गृह राज्य मंत्री को बर्खास्त करने की मांग की
लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा को बर्खास्त करने तथा उन्हें गिरफ्तार करने की मांग को लेकर संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर किसानों ने मंगलवार को यहां लघु सचिवालय के बाहर प्रदर्शन किया। बाद में अपनी मांगों के संबंध में किसानों ने राष्ट्रपति को संबोधित करते हुए एक ज्ञापन अधिकारियों को सौंपा। मोर्चा के आह्वान पर किसान लघु सचिवालय के बाहर अदालत रोड पर किसान नेता भूपेंद्र के नेतृत्व में एकत्रित हुए। भूपेंद्र के अलावा भारतीय किसान यूनियन के छाजूराम कंडेला समेत अन्य किसान नेताओं ने प्रदर्शनकारियों को संबोधित किया। 

नवाब मलिक बोले - ज्ञानदेव वानखेड़े को समीर वानखेड़े का जन्म प्रमाणपत्र दिखाना चाहिए

उन्होंने आरोप लगाया कि तीन अक्टूबर की घटना को तीन सप्ताह से अधिक का समय बीत चुका है लेकिन इसके बावजूद अजय मिश्रा के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है। उन्होंने मांग की कि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा को तुरंत प्रभाव से बर्खास्त किया जाए। उन्होंने पूरे मामले की जांच उच्चतम न्यायालय की निगरानी में कराने की मांग कमी।

आश्रम वेब सीरीज के खिलाफ मप्र के गृहमंत्री, प्रज्ञा ठाकुर ने कहा- अब साधु-संत देखेंगे फिल्में 

 

 


 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.