leader not even safe in pakistan, pm imran''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''s mla sought refuge in india

पाकिस्तान में राजनेता भी नहीं सुरक्षित, PM इमरान की पार्टी के विधायक ने मांगी भारत में शरण

  • Updated on 9/11/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के एक पूर्व विधायक ने पड़ोसी देश में अल्पसंख्यकों से उनके अधिकार छीने जाने का आरोप लगाते हुए भारत में शरण मांगी है।      बलदेव कुमार (43) अपनी पत्नी और दो बच्चों के साथ पिछले महीने भारत आए थे और अभी वे पंजाब के लुधियाना जिले में हैं।

कुमार ने खन्ना में मंगलवार को पत्रकारों से कहा, ‘ मैं यहां शरण लेने आया हूं और (प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी) मोदी साहब से मदद की गुहार लगाऊंगा।’ भारत आने की वजह पूछने पर कुमार ने कहा, ‘सारी दुनिया पाकिस्तान की मौजूदा स्थिति देख रही है। हमें उम्मीद थी कि (प्रधानमंत्री इमरान खान) खान साहब के सत्ता में आने के बाद पाकिस्तान की किस्मत बदलेगी।’  उन्होंने दावा कि इमरान ऐसा करने में नाकाम रहे हैं।

कल है मुहर्रम, निकाले जाएंगे ताजिए, इन जगहों पर लग सकता है जाम

कुमार ने कहा, ‘आप स्थिति (पाकिस्तान की) देख रहे हैं और मैं भी वही देख रहा हूं। उस दिन हमारी सिख लड़की का अपहरण कर लिया गया। ऐसी चीजें नहीं होनी चाहिए।’ गौरतलब है कि पाकिस्तान के पंजाब प्रांत से एक ग्रंथी की बेटी का अपहरण कर लिया गया था।

लड़की के परिवार ने आरोप लगाया था कि एक मुस्लिम व्यक्ति से शादी कराने से पहले बंदूक का डर दिखा उसे इस्लाम कबूल कराया गया था। लड़की के परिवार का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। कुमार ने कहा, ‘क्या पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों को अधिकार मिल रहे हैं, ऐसा होता तो स्थिति ऐसी नहीं होती।’

पिछड़ा वर्ग के आरक्षण के मामले में भाजपा ने किया छलावा और साफ हुआ दोगला चेहरा :सुर्जेवाला

उन्होंने कहा कि उन्होंने अपने परिवार के अन्य सदस्यों से भी पाकिस्तान छोड़ने का आग्रह किया है। कुमार ने कहा कि सिंध और ननकाना साहिब में कई परिवार हैं, जिन्होंने उनसे कहा है कि उन्हें भारत में शरण मिलने पर वे भी पाकिस्तान छोड़ने की कोशिश करेंगे।

कुमार पाकिस्तान में खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के बारिकोट सीट से प्रांतीय विधानसभा के पूर्व सदस्य हैं। भारत ने जबरन धर्म परिवर्तन के मामलों के खिलाफ चिंता जाहिर की है और पड़ोसी देश से इन मामलों से निपटने के लिए सुधारात्मक कार्रवाई करने को कहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.