Monday, Jan 21, 2019

वास्तु की तरह फेंगशुई शास्त्र भी फायदेमंद, सिर्फ नमक से लाएं घर में खुशहाली

  • Updated on 12/13/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। फेंगशुई शास्त्र का इन दिनों बहुत महत्व माना जा रहा है। सबसे पहले तो बता दें कि फेंग यानि हवा और शुई यानि जल अर्थात जल और वायु पर आधारित शास्त्र फेंगशुई शास्त्र है। सिर्फ भारत में ही नहीं ये अन्य कई देशों में भी प्रसिद्ध है।

वास्तु की तरह इस शास्त्र के टिप्स भी बेहद फायदेमंद और सरल माने जाते हैं। अगर आप चाहते हैं कि आपके घर मे सुख-समृद्धि बनी रहे तो आप भी फेंगशुई के आसान टिप्स अपना सकते हैं।

नेवले की मूर्ति घर में रखने से मिलते हैं ये लाभ, जानिए यहां

ऐसा माना जाता है कि घर के पूर्वोत्तर कोण में तालाब या फव्वारा शुभ लगाना होता है। फेंगशुई के अनुसार, इसके पानी का बहाव घर की ओर होना चाहिए न की बाहर की ओर।

फेंगशुई में बांस के पौधे सुख-समृद्धि का प्रतीक माने गए हैं। इनसे परिवार के सदस्यों को पूर्ण आयु व अच्छी सेहत मिलती है। घर की बैठक में जहां घर के सदस्य आमतौर पर एकत्र होते हैं, वहां बांस का पौधा लगाना चाहिए। पौधे को बैठक के पूर्वी कोने में रखें।

भगवद् गीता के इन 4 मंत्रों के जाप से मिलेगा जीवन की कई परेशानियों से छुटकारा

फेंगशुई के अनुसार, घर की रक्षा ड्रैगन करता है। इसलिए घर में ड्रैगन की मूर्ति या चित्र रखना चाहिए। फेंगशुई के अनुसार, घर के बाहर काला कछुआ, लाल पक्षी, सफेद बाघ या हरा ड्रैगन हो तो घर में नेगेटिव एनर्जी प्रवेश नहीं कर पाती।

काला कछुआ उत्तर दिशा का, लाल पक्षी दक्षिण दिशा का, सफेद बाघ पश्चिम दिशा का तथा हरा ड्रैगन पूर्व दिशा का प्रतिनिधित्व करता है।

अंगूठे के आकार में छिपे हैं कई राज, ऐसे पता करें व्यक्ति का स्वभाव

घर को नेगेटिव एनर्जी से मुक्त रखने के लिए पूर्व दिशा में मिट्टी के एक छोटे से बर्तन में नमक भर कर रखें और हर चौबीस घंटे के बाद नमक बदलते रहें। वहीं घर में खुशहाली रहे, इसके लिए तीन हरे पौधे मिट्टी के बर्तनों में घर के अंदर पूर्व दिशा में रखना चाहिए। ध्यान रहे कि फेंगशुई में बोनसाई और कैक्टस को हानिकारक माना जाता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.