Monday, Mar 01, 2021
-->
lnjp-declared-the-surviving-covid-patient-dead-due-to-a-mistake-rkdsnt

एक गलती कर एलएनजेपी ने जीवित कोविड मरीज को किया मृत घोषित

  • Updated on 12/8/2020

नई दिल्ली, (नवोदय टाइम्स): नाम का प्रभाव इंसान के जीवन में काफी पडता है लेकिन कई बार एक ही नाम के दो लोग टकरा जाएं तो कई गलतफहमियां भी हो जाती हैं। ऐसा ही मामला लोकनायक जयप्रकाश नारायण अस्पताल (एलएनजेपी) में भी देखने को मिला। जहां एक नाम के दो मरीज एक ही दिन भर्ती हुए जिनमें से एक की मौत हो गई। लेकिन जीवित मरीज का डेथ सर्टिफिकेट एक छोटी सी गलती के चलते जीवित मरीज के नाम पर जारी कर दिया गया। 

केजरीवाल के नजरबंद होने के दावे का दिल्ली पुलिस ने किया खंडन

दरअसल 24 नवंबर को सांस लेने में तकलीफ होने के बाद फतेहपुर बेरी निवासी 33 वर्षीय श्रीनिवास कुमार को एलएनजेपी में भर्ती करवाया गया था। श्रीनिवास का पहला टेस्ट छतरपुर के तेरहपंत में करवाया गया जोकि पाॅजिटिव आने के बाद एलएनजेपी रेफर किया गया था। 3 दिसंबर को उनका दोबारा एलएनजेपी में कोविड सैंपल लिया गया। श्रीनिवास का कहना है कि उनकी रिपोर्ट नहीं आने से वो परेशान थे और लगातार डाॅक्टरों व अस्पताल प्रशासन से इस बारे में पूछ रहे थे। तभी उनके मोबाइल पर लिंक उत्तरी दिल्ली नगर निगम द्वारा भेजा गया, जब उन्होंने इस लिंक को खोला तो वो देखकर हैरान रह गए कि यह उनका मृत्यु प्रमाण पत्र था। इस मृत्यु प्रमाण पत्र के अनुसार उनकी मृत्यु की तिथि 1 दिसंबर 2020 थी और पंजीकरण की तिथि 6 दिसंबर व पंजीकरण संख्या एमसीडीओएलआईआर-0220189022 है।

गैस मूल्य निर्धारण में नए प्रावधानों से रिलायंस, अन्य कंपनियों की होगी बल्ले-बल्ले!

इस मृत्यु प्रमाण पत्र में उनके मृत्यु का स्थान एलएनजेपी अस्पताल बताया गया है। जबकि इस प्रमाण पत्र के प्रिंट की तिथि 7 दिंसबर 2020 है। उन्होंने इसकी जानकारी अपने घरवालों को दी, जिसके बाद उनके परिजन परेशान हो गए। श्रीनिवास ने बताया कि इस गलती के बारे में उन्होंने तुरंत अस्पताल प्रशासन को चेताया लेकिन आगे उन्होंने क्या किया इसकी जानकारी नहीं है। उनका कहना है कि जिंदा होने के बाद भी उनका मृत्यु प्रमाण पत्र बन जाने से वो काफी डर गए हैं। फोन पर हुई बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि वो अभी भी एलएनजेपी के स्पेशल वार्ड में रूम नंबर 107 में एडमिट हैं और उनका इलाज चल रहा है।

राहुल गांधी ने किसानों के भारत बंद के जरिए साधा अदानी-अंबानी पर निशाना

क्या कहना है अस्पताल प्रशासन का: इस बाबत पूछे जाने पर एलएनजेपी के मेडिकल डायरेक्टर डाॅ‐ सुरेश कुमार ने कहा कि एक ही दिन, एक नाम के दो मरीजों के भर्ती होने से गलती हो गई है। हमने उत्तरी दिल्ली नगर निगम को इस गलती की जानकारी दे दी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.