Friday, Dec 09, 2022
-->
lockdown yadav sp akhilesh yadav uttar pradesh lockdown bjp railway pragnt

'लॉकडाउन यादव' के जन्म पर अखिलेश का BJP पर तंज, बोले- नोटबंदी वाले 'खजांची' अब अकेले नहीं

  • Updated on 5/29/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी (SP) के प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान गरीबों के साथ हो रही परेशानियों के लिए केंद्र की बीजेपी सरकार (BJP Government) पर अपने ही अंदाज में हमला किया है। उन्होंने सरकार को नोटबंदी (Demonetisation) के दौरान सड़क पर जन्म लेने वाले बच्चे 'खजांची' से लेकर अब लॉकडाउन के दौरान ट्रेन में जन्म लेने वाले 'लॉकडाउन यादव' (Lockdown Yadav) की याद दिलाई है। उन्होंने लॉकडाउन यादव के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए केंद्र से कहा है कि आगामी यात्रा इनके जन्म जैसी कटु परिस्थितियों से बेहतर हो।  

मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने गिरवाई अपने ही गोरखपुर मठ परिसर की दुकानें

अखिलेश का तंंज
सपा प्रमुख ने ट्वीट कर कहा, 'कोरोनाबंदी के दौर में ट्रेन में जन्मे 'लॉकडाउन यादव' के उज्ज्वल भविष्य की कामना। आशा है नोटबंदी के समय लाइन में जन्म लेने पर मजबूर 'खजांची' अब अकेला महसूस नहीं करेगा।' उन्होंने आगे लिखा कि अब भाजपा सरकार ये सुनिश्चित करे कि इन बच्चों की आगामी यात्रा, इनके जन्म जैसी कटु परिस्थितियों से बहुत बेहतर हो। 

देश में 89853 एक्टिक कोरोना मामले, 4710 ने दम तोड़ा

उत्तरप्रदेश का था मजदूर
बता दें कि उत्तर प्रदेश के अंबेडकर नगर के उदयभान सिंह यादव अपने परिवार के साथ मुंबई से श्रमिक स्पेशल ट्रेन में बैठकर अपने घर के लिए निकले थे। रास्ते में उनकी पत्नी रीना को प्रसव दर्द होना शुरू हो गया। जिसके बाद पति ने रेलवे के हेल्पलाइन नंबर पर फोन किया। फोन करने पर रेलवे कर्मचारियों ने दोनों दंपति को ट्रेन से उतार के पास के अस्पताल में पहुंचाया। चूंकि बच्चे का जन्म कोई साधारण परिस्थतियों में नहीं हुआ था इसलिए माता- पिता ने भी तय किया कि बच्चे का नाम असाधारण रखा जाएगा और उन्होंने बेटे को 'लॉकडाउन यादव' नाम से पुकारने का निर्णय लिया है। 

सौ सालों में पहली बार जामिया के छात्रों को ऑन लाइन प्लेसमेंट ऑफर्स

अखिलेश ने BJP पर साधा निशाना
इसी बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने लॉकडाउन यादव को उज्जवल भविष्य की कामनाओं के साथ, मौजूदा सत्ताधारी पार्टी पर निशाना साधने की कोशिश की है। उन्होंने सत्ताधारी पार्टी को नोटबंदी से लेकर लॉकडाउन तक में गरीबों को हुई परेशानी याद दिलाई है और साथ ही कहा है कि वह सुनिश्चित करे कि आगे ऐसा न हो।

कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरों को यहां पढ़ें...

comments

.
.
.
.
.