Wednesday, Mar 20, 2019

उत्तराखंड की पांचों सीटों पर 11 अप्रैल को मतदान

  • Updated on 3/11/2019

देहरादून/ब्यूरो। उत्तराखंड की पांचों लोकसभा सीटों पर 11 अप्रैल को मतदान होगा। चुनाव आयोग ने उत्तराखंड में पहले चरण में ही मतदान कराने का निर्णय लिया है। हालांकि, चुनाव के परिणाम के लिए प्रदेशवासियों को एक महीने से ज्यादा का इंतजार करना पड़ेगा। चुनाव परिणाम  23 मई को आएंगे।

पूरे देश में सात चरणों में मतदान होंगे, लेकिन उत्तराखंड में मतदान एक ही चरण में संपन्न हो जाएगा। प्रदेश में करीब 77,17126 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। लोकसभा चुनाव के लिए प्रदेश में 11 हजार से ज्यादा मतदान केंद्र बनाए गए हैं।

प्रदेश के कई हिस्सों में फिलहाल बर्फबारी हो रही है। बर्फ से ढके इलाकों में मतदान कराने में दिक्कत आ सकती है। इन मतदान केंद्रों तक पोलिंग पार्टियों को पहुंचाना भी चुनौती से कम नहीं है।

सिर्फ एक क्लिक में जानें लोकसभा चुनाव 2019 का पूरा शेड्यूल

पांचों सीटों पर भाजपा का कब्जा
प्रदेश में लोकसभा की पांच सीटें हैं। फिलहाल पांचों सीटों पर भाजपा का कब्जा है। 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने क्लीन स्विप किया था। 2014 में भाजपा ने तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों को चुनाव मैदान में उतारा था। हरिद्वार में काफी रोचक मुकाबला हुआ था।

यहां भाजपा की ओर से पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक, तो कांग्रेस की ओर से तत्कालीन मुख्यमंत्री हरीश रावत की पत्नी रेणुका रावत चुनाव मैदान में थीं। मोदी लहर में भाजपा के सभी प्रत्याशी जीत गए थे। हरिद्वार से रमेश पोखरियाल निशंक, पौड़ी से भुवनचंद्र खंडूरी, नैनीताल से भगत सिंह कोश्यारी, टिहरी से माला राज्यलक्ष्मी शाह और अल्मोड़ा  से अजय टम्टा सांसद चुने गए थे।

सरकारी घोषणाओं, परियोजनाओं के उद्घाटन पर रोक
लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लागू होते ही सरकारी घोषणाओं और परियोजनाओं आदि के उद्घाटन, शिलान्यास पर रोक लग गई है। राज्य सरकार की ओर से कोई लोक लुभावनी घोषणा नहीं की जा सकेगी। ऐसे मामलों पर चुनाव आयोग की नजर रहेगी। आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन पर एफआईआर हो सकती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.