Saturday, Nov 17, 2018

चुनावी रेवड़ियां बांटने को RBI से करोड़ों रुपये चाहती है मोदी सरकार: कांग्रेस

  • Updated on 11/6/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कांग्रेस ने मंगलवार को कहा कि अगर रिजर्व बैंक 3.6 लाख करोड़ रुपये लेने की मोदी सरकार की कथित मांग मान लेता है तो यह अब तक की सबसे ‘‘बड़ी लूट’’ होगी। कांग्रेस ने इसको ‘‘ग्रेट इंडियन रॉबरी’’ की उपमा देते हुए आरोप लगाया कि यह धनराशि 2019 संसदीय चुनावों से पहले ‘‘रेवडिय़ां’’ बांटने के लिए मांगी जा रही है। 

केदारनाथ में दीपावली मनाएंगे पीएम नरेंद्र मोदी, सुरक्षा हुई कड़ी

कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने राजधानी में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि भारत की वृहद आॢथक स्थिरता पर इस तरह के कदम के ‘‘गंभीर’’ प्रभाव होंगे। तिवारी ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार ‘भारतीय रिजर्व बैंक’ को ‘‘ध्वस्त’’ कर रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस भारत की आॢथक संप्रभुता को कमजोर करने के किसी भी प्रयास का प्रतिरोध करेगी और किसी को इस तरह का ‘‘दु:साहस’’ करने की छूट नहीं देगी।

मध्य प्रदेश चुनाव 2018 : #Congress ने जारी प्रत्याशियों की तीसरी लिस्ट

उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘सार्वजनिक रूप से जो तथ्य सामने आ रहे हैं, उसके अनुसार, सरकार चाहती है कि आरबीआई अपने 9.59 लाख करोड़ रुपये के आरक्षित कोष में से 3.6 लाख करोड़ रुपये उसे दे दे...’’ तिवारी ने कहा कि आरबीआई इसके सख्त विरोध में है और सरकार की यह मांग ‘‘अभूतपूर्व’’ है। पूर्व केन्द्रीय मंत्री ने कहा, ‘‘अगर यह (प्रस्ताव) अंजाम पाता है तो यह ‘ग्रेट इंडियन रॉबरी’ होगी।’’ 

राम मंदिर पर निजी विधेयक आया तो उजागर हो जाएगा विपक्ष: मौर्य

उन्होंने कहा, ‘‘भारत की वृहद आॢथक स्थिरता पर इसका गहरा असर होगा...यह भारतीय अर्थव्यवस्था के मजबूत आधार के लिए यह भी जरूरी है कि आरबीआई के पास किसी भी आकस्मिक स्थिति से निपटने के लिए पर्याप्त धन उपलब्ध हो। और आज राजग/ भाजपा सरकार (निवेशकों के) इस विश्वास को , और इस प्रक्रिया में भारतीय रिजर्व बैंक को ध्वस्त करना चाहती है।’’

छत्तीसगढ़ में 62 नक्सलियों का आत्मसमर्पण, राजनाथ सिंह उत्साहित

कांग्रेस के आरोप पर तत्काल कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। सरकार की मंशा के बारे में बात करते हुए तिवारी ने आरोप लगाया कि सरकार की इस चाल का कारण इस समय वित्त मंत्रालय के राजकोषीय घाटे और चालू खाते के घाटे में के आंकड़ों में खोजा जा सकता है जो दिनोंदिन बढ़ रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘... राजकोषीय घाटा पाटने के लिए, सरकार ने आरबीआई के पास मौजूद धन पर निगाह गड़ानी शुरू कर दी है और ज्यादा चिंताजनक यह है कि वे संभवत: इस धन को 2019 चुनावों से पहले रेवडिय़ां बांटने में इस्तेमाल करना चाहते हैं।’’ 

मध्यप्रदेश चुनाव 2018 : CM शिवराज सिंह चौहान ने भरा नामांकन पत्र

तिवारी ने कहा कि सरकार को अर्जेंटीना से सीखना चाहिए जहां केन्द्रीय बैंक से 6.6 अरब डॉलर से अधिक की धनराशि सरकार के खजाने में हस्तांतरित करने से गंभीर संवैधानिक संकट पैदा हो गया है और अर्जेंटीना 50 अरब डालर की राहत के लिए आईएमएफ (अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष) के सामने हाथ फैलाए हुए है।   

मप्र विधानसभा चुनाव: #BJP ने जारी की उम्मीदवारों की दूसरी सूची

  

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.