Thursday, Aug 16, 2018

टैटू बनवाने के क्यों हैं भगवान शिव का रुद्र रुप है फेमस?

  • Updated on 8/10/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल।  सावन के महीने में जहां एक तरफ बाब भोलनाथ का रगं चढ़ा है वहीं उन्हें लोग अपनी श्रद्धा के रुप में टैटू बनवा रहे हैं। पिछले कई टैटू अर्टिस्ट से बातकरने पर पता चलता है कि पिछले काफी समय लोगों में टैटू का क्रेज बढ़ा है। और इस क्रेज में अगर डिजाइन की बात करी जाए तो भगवान और देवी देवाताओं के टैटू काफी चलन में हैं।

 

Navodayatimes

 

इसी कड़ी में भगवान भोलेनाथ के टैटू को सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है। इसमें भी शिव के रौद्र रुप को बनवाने वालों का संख्या ज्यादा है। सबसे ज्यादा शिव के रौद्र रुप के अलावा ऊं और त्रिशूल का निशान भी लोगों को खूब पसंद आता है।

 

Navodayatimes

 

इसके अलावा भगवान बुद्ध भी बेहद खास लगते हैं। देवी देवताओं की बात करें तो भगवान कृष्ण, गणेशजी को भी टैटू के डिजाइन के तौर पर लोग गुदवाते दिख जाएंगे। 

 

Navodayatimes

 

टैटू बनवाते वक्त ध्यान रखें इन बातों का...

टैटू बनवाने के शौक है लेकिन कई बार कुछ लापरवाही के चलते टैटू बनवाना भारी पड़ जाता है। ऐसे में थोड़ी सी सावधानी रखकर आप इससे बच सकते हैं। 

टैटू बनवाने के बाद इस बात का ध्यान रखें की खुद को और जहां टैटू बनवाया है उसके धूप से बचाएं। ज्यादा समय तक धूप में रहने से घावों में जलन बढ़ जाती है। इसके आलाव पसीना ज्यादा आने से भी घाव में इफेंक्शन होने का डर रहता है। इसके लिए खुद को एक से दो हफ्तों तक टैटू को धूप से बचाएं। 

ध्यान रहें टैटू वाले हिस्से को साफ कपड़े या टिशू से साफ करते रहें। साफ ठंडा पानी डालते रहे इससे हो रही जलन में आराम मिलेगा। 

 

Navodayatimes

 

इसके अलावा अगर बाहर जा रहे हैं तो अच्छी कंपनी का सनस्क्रीन उस हिस्से पर लगाएं। साथ ही बिना खूशबू वाला माश्चराइजर भी लगा सकते हैं। 

वहीं अगर टैटू बनवाते समय अगर कोई छाला हो जाता है तो इसके लिए ठंडे पानी की छींटे डालते रहें। आइसपैक लगाएं, इससे छाले पर आराम मिलेगा। 

अगर पैरों में टैटू बनवाया है तो सही तरह के जूतें रहने हालांकि गर्मियों में शूज पहनना संभव नहीं है लेकिन ऐसे जूते पहनने से भी बचे जिससे टैटू सीधे धूप के संपर्क में आता हो। 

टैटू बनवाने के कुछ समय तक जब तक उसके घाव पूरी तरह ना भर जाएं, पानी से बचें। इससे मतलब है कि स्वीमिंग पूल, बोटिंग जैसी खेलों से बचें जहां पानी का ज्यादा इस्तेमाल हो। इससे इंस्फेक्शन का खतरा रहता है।

 

Navodayatimes

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.