Tuesday, Oct 04, 2022
-->
lucknow-vivek-tiwari-murder-accused-policeman-support-secret-letter

विवेक हत्याकांडः सीक्रेट लेटर ने उड़ाई यूपी पुलिस की नींद, सुलग रही है विरोध की चिंगारी!

  • Updated on 10/8/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। लखनऊ में हुए विवेक तिवारी के मर्डर केस में उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा आरोपी सिपाही प्रशांत चौधरी को समर्थन दिए जाने की खबरें तो आती रही हैं। हाल ही में पुलिस के जवानों द्वारा काली पट्टी बांधकर आरोपी को समर्थन देने की बात सामने आई थी इसपर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी अदित्यनाथ काफी नाराज हुए थे।

इस मामले में योगी अदित्यनाथ के कड़े रूख के बाद भी विरोध की आग कम होती नहीं दिखाई दे रही है। मिडीया रिपोर्ट्स से मिली जानकारी के मुताबिक आरोपी सिपाही प्रशांत चौधरी के गिरफ्तारी के बाद भी यह मामला शांत नहीं हुआ है। उत्तर प्रदेश पुलिस में अंदर ही अंदर आरोपी के समर्थन में काम से बहिसष्कार की बात की जा रही है।

मोदी बनवा रहे शौचालय और मंत्री जी खुले में पेशाब कर करा रहे किरकिरी

मीडिया रिपोर्ट्स को मिली एक चिट्ठी में चौंका देने वाला खुलासा सामने आया है। इस चिट्ठी को उपर लिखा है परम गोपनीय, यानी टॉप सीक्रेट लेटर। हैरानी वाली बात यह है कि, इस चिट्ठी को मेरठ के एसपी इंटेलीजेंस आर.पी. पांडे ने 9 जिलों के पुलिस विभाग को भेजी है। जिसमें उन्होंने तमाम पुलिस थानों को आगाह करते हुए लिखा है कि डिपार्टमेंट में बगावत की आग सुलग रही है।

आर.पी. पांडे ने चिट्ठी में व्हॉट्सएप पर वायरल एक मैसेज का जिक्र किया है और ये आशंका जताई है कि सोशल मीडिया के जरिए पुलिस को भड़काया जा रहा है। काली पट्टी बांध कर विरोध जताने वाले कुध सिपाहियों को मुख्यमंत्री योगी अदित्यनाथ ने सस्पेंड कर दिया था इस बात से सिपाही और भड़के हुए हैं और ऐसा लगता है जैसे यूपी पुलिस के जवान अंदर-अंदर सुलग रहे हैं।

बता दें कि, लखनऊ में हुए विवेक तिवारी के मर्डर केस के बाद से ही मामले ने काफी तूल पतड़ा हुआ है, एक तरफ आम आदमी का गुस्सा पुलिस के खिलाफ फूटा तो दूसरी तरफ पुलिस भी आरोपी के समर्थन में दिखाई दी। इस दौरान सोशल मीडिया की भी मदद ली गई। आरोपी सिपाही प्रशांत चौधरी की आर्थिक मदद के लिए एक कैंपेन भी चलाया गया था।

'ब्रह्मोस' की जानकारी PAK को लीक करने के मामले में DRDO कर्मचारी गिरफ्तार

इस कैंपेन में आरोपी सिपाही की मदद के लिए धनराशी की मांग की गई थी और हैरानी वाली बात यह रही कि सिर्फ दो दिन में ही आरोपी सिपाही की पत्नी के अकाउंट में 5 लाख से भी ज्यादा की राशी जमा हो गई थी। ऐसा ही एक संदेश वायरल हो रहा है खाकी को विरोध में, इस मैसेज से साफ है कि अंदर ही अंदर खाकी सिपाहियों को उकसाया जा रहा है। 

वायरल हो रहे मैसेज में मैसेज में विरोध का तरीका भी बताया गया है, इसमें लिखा है कि आज नहीं जागे तो कभी नहीं जागोगे ऐसे की हर जगह मार खाते रहोगे। उस मैसेज को सभी ग्रुप में फारवर्ड करने की बात भी कही जा रही है। ये चेतावनी भी दी है कि अगर ऐसा किया तो कल आपका होगा। नहीं तो हर जगह मार खाते रहोगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.