Wednesday, Jan 26, 2022
-->
maa-durga-to-arrive-from-house-to-house-temple-decorated

घर-घर में होगा मां दुर्गा का आगमन, मंदिर सजे

  • Updated on 10/6/2021

नई दिल्ली। टीम डिजिटल। शारदीय नवरात्र पर मां दुर्गा के आगमन के लिए राजधानी के घरों में लोगों ने पूरी तैयारियां कर ली हैं। वहीं दिल्ली के सभी छोटे-बडे मंदिरों को कोविड गाइडलाइंस का पालन करते हुए भक्तों के लिए खोल दिया गया है। मंदिर प्रशासन द्वारा झंडेवाला देवी मंदिर, कालकाजी मंदिर व छत्तरपुर मंदिर को बेहद खूबसूरत फूलों व रंगीन बल्बों से सजाया गया है। वहीं भक्तों के दर्शन के साथ ही कई प्रकार की विशेष तैयारियां भी की गईं हैं। आइए जानते हैं कि क्या तैयारियां हैं मंदिरों में।
एनडीएमसी का आईसीसीसी, पुलिस के लिए भी बना मददगार

प्राचीन झंडेवाला देवी मंदिर
झंडेवाला देवी मंदिर के सचिव कुलभूषण आहुजा ने बताया कि गाइडलाइंस के अनुसार तैयारियां पूरी हैं भक्त दर्शन तो कर पाएंगे लेकिन प्रसाद व अन्य भेंट चढानें की मनाही रहेगी। बिना मास्क प्रवेश नहीं मिलेगा। मंदिर के प्रत्येक द्वार पर चरण पादुका स्टैंड बनेंगे, जहां भक्त अपने जूते-चप्पल रख सकेंगे। भक्तों के वाहन रानी झांसी मार्ग, फ्लैटिड फैक्ट्री परिसर में निःशुल्क पार्किंग की व्यवस्था रहेगी। आपात स्थिति को ध्यान में रखते हुऐ 150 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। जिन की निगरानी पुलिस के सहयोग से विशेष रूप से बने एक कंट्रोल रूम से की जाएगी ताकि असामाजिक तत्वों पर ध्यान रखा जा सके। नवरात्र के समय हर वर्ष अलग-अलग स्थानों से भक्त मां की ज्योत लेने आते हैं उनकी हर प्रकार की सुविधा का प्रबंध मंदिर की ओर से किया जाएगा।
भाजपा नेता विजय जौली बने रामलीला में इंद्रदेव

आद्यकात्यायनी छत्तरपुर मंदिर 
छत्तरपुर मंदिर के सीईओ डाॅ. किशोर चावला ने बताया कि इस बार जो भक्त विजिट नहीं कर पा रहे उनके लिए डीडी नेशनल पर लाइव आरती प्रसारित की जाएगी। भीड को कंट्रोल करने के लिए स्लाॅट दिए जाने की तैयारी ऐप के जरिए की जा रही है। भक्त फूलमाला, प्रसाद नहीं चढा पाएंगे। डीआरडीओ ने अल्टा वायलेट मशीन बनाई थी जोकि मंदिर परिसर में लगी हुई हैं। उनके जरिए 99 फीसदी मंदिर कोविड फ्री है। दो सेनेटाइजर टनल इंट्री प्वाइंट पर लगाए गए हैं इसके अलावा जगह-जगह हैंड सेनेटाइजर लगाए गए हैं। थर्मल स्कैनिंग होगी, जो मास्क पहनकर नहीं आएंगे उन्हें मास्क दिए जाएंगे। 60 वर्ष से अधिक व 12 साल से कम उम्र के लोगों को मंदिर में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। मां आद्यकात्यायनी व महिषासुर मर्दनी की मूर्ति को डायमंड व गोल्ड के आभूषणों से सजाया गया है। 


 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.