Sunday, Feb 23, 2020
madhaypradesh priya verma deputy collector caa nrc caa protest kamalnath

मध्यप्रदेश: CAA के प्रदर्शन में महिला डिप्टी कलेक्टर से हुई बदसलूकी, खींचे गए बाल

  • Updated on 1/19/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। देशभर में सीएए (CAA) और एनआरसी (NRC) के खिलाफ प्रर्दशन हो रहे हैं। दिल्ली के शाहीनबाग (Shaheenbag) से देश के कौने-कौने तक लोग इस बिल का विरोध करते हुए सड़को पर आ रहे हैं। वहीं कुछ लोग इसे देश के अच्छा मान रहे हैं और वह इसके समर्थन में भी रैली निकाल रहे हैं। इसी बीच मध्यप्रदेश (Madhaypradesh) में सीएए के समर्थ में हुए प्रदर्शन में प्रर्दशनकारियों ने डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा के बाल खींच दिए। बता दें प्रिया प्रदर्शनकारियों को शांत करने की कोशिश कर रही थी। जब उनके साथ यह हादसा हुआ।
जानें निर्मला सीतारमण ने CAA पर बोलते हुए अदनान सामी और तस्लीमा नसरीन का क्यों क्या जिक्र

राजगढ़ में घटी घटना 
राजगढ़ की महिला कलेक्टर निधि निवेदिता एवं उनके अधीनस्थ काम कर रहीं डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा ने राजगढ़ जिले के ब्यावरा में संशोधित नागरिकता कानून (CAA) के समर्थन में धारा 144 लगाने के बाद भी रैली निकालने वाले भाजपा (BJP) कार्यकर्ताओं को पुलिस अधिकारियों एवं कर्मचारियों के सामने कथित रूप से रविवार को चांटे मारे।         
#CAA, #JNU-जामिया मुद्दे को लेकर केजरीवाल पर सिब्बल ने साधा निशाना

धक्का-मुक्की और चोटी खींची गई
इससे नाराज प्रदर्शनकारियों ने इन दोनों अधिकारियों से भी धक्कामुक्की भी हुई और डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा की चोटी भी खींची, जिससे उनके बाल बिखर गये। इस सारी घटना के कुछ वीडियो भी वायरल हो गये हैं। भाजपा ने इन दोनों अधिकारियों द्वारा सीएए के समर्थकों को पीटे जाने पर कहा कि आज का दिन लोकतंत्र (Democracy) के सबसे काले दिनों में गिना जायेगा। वहीं, कलेक्टर निधि से इस बारे में पक्ष जानने के लिए फोन पर बार-बार संपर्क करने का प्रयास किया गया, लेकिन सफलता नहीं मिली। भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj singh Chauhan) ने ट्वीट किया। आज का दिन लोकतंत्र के सबसे काले दिनों में गिना जायेगा।
Sai baba Birthplace विवाद: दुकानें, भोजनालय, स्थानीय परिवहन सेवाएं बंद

डिप्टी कलेक्टर ने कार्यकर्ताओं को लताड़ा
आज राजगढ़ में डिप्टी कलेक्टर साहिबा ने जिस बेशर्मी से सीएए के समर्थन में प्रदर्शन कर रहे कार्यकर्ताओं को लताड़ा, घसीटा और चाँटे मारे, उसकी  निंदा मैं शब्दों में नहीं कर सकता। क्या उन्हें प्रदर्शनकारियों को पीटने का आदेश मिला था ? उन्होंने कहा प्रदेश में शासन-प्रशासन द्वारा कांग्रेस (Congress) सरकार की चाटुकारिता के नये आयाम गढ़े जा रहे हैं। सरकार के तुगलकी फरमानों पर अमल में कौन रेस में पहले आता है, इसकी होड़ लगी है। कुछ अधिकारी भूल गए हैं कि वे किसी पार्टी के हुक्म बजाने के लिए नहीं बल्कि जनता की सेवा हेतु पद पर हैं।       

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.