Sunday, Jun 13, 2021
-->
mahant nratya gopal das hpcommonmanissues ayodhya construction of grand ram temple

राममंदिर के निर्माण को लेकर बड़ा ऐलान, छह माह में शुरू होगा काम

  • Updated on 2/29/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। अयोध्या (Ayodhya) में राम मंदिर निर्माण को लेकर श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट (Shriram Janmabhoomi Teerth Kshetra Trust) के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास (Nritya Gopal Das) ने समयकाल का ऐलान किया है। उन्होंने कहा है कि भव्य राम मंदिर का निर्माण कार्य छह माह में शुरु हो जाएगा। उन्होंने बताया कि अधिकारिक तौर पर तिथि की घोषणा एक हफ्ते में कर दी जाएगी। 

राम मंदिर निर्माण पर नृत्यगोपाल दास का बड़ा खुलासा, कहा- सरकार से नहीं लेंगे एक भी पैसा

दो-तीन साल में बनकर तैयार होगा मंदिर
नृत्य गोपाल दास ने बताया कि तिथि की घोषणा के बाद दो-तीन साल में भव्य मंदिर बनकर तैयार हो जाएगा। दरअसल महंत नृत्य गोपाल दास इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र में आयोजित अयोध्या पर्व के उद्घाटन समारोह को संबोधित करते हुए उन्होंने राम मंदिर के बारे में जानकारी दी। 

PM मोदी से मिले राम मंदिर ट्रस्ट के सदस्य, अयोध्या आने का दिया न्यौता

मंदिर का निर्माण विहिप के पूर्व निर्धारित मॉडल पर
बता दें कि अयोध्या में राम जन्म भूमि पर राम मंदिर का निर्माण विश्व हिन्दू परिषद(विहिप)के पूर्व निर्धारित मॉडल पर ही होगा। हालांकि इस मुद्दे पर औपचारिक तौर पर अंतिम मुहर अयोध्या में 3 मार्च को होने वाली बैठक में लगने की संभावना है। लेकिन माना जा रहा है कि जिस तरह से राम मंदिर आंदोलन की रूपरेखा से लेकर मंदिर निर्माण के लिए विहिप ने सबकी सहमति से मिलकर मॉडल तैयार किया था, उसी मॉडल के आधार पर ही राम मंदिर का निर्माण होगा। 

राम जन्मभूमि ट्रस्ट में शामिल होंगे नृत्य गोपाल दास और चंपत राय, औपचारिक ऐलान जल्द

मंदिर निर्माण से जुड़े हरेक निर्णय पर लगेगी नृपेंद्र सिंह की मुहर
बताया जाता है कि मंदिर निर्माण से जुड़े कार्य में हरेक निर्णय पर वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी व पीएम मोदी के करीबी रहे नृपेंद्र मिश्रा की मुहर पर ही होगा। उल्लेखनीय है कि श्रीराम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास में नृपेंद्र मिश्रा को भवन निर्माण का अध्यक्ष बनाया गया है। ऐसे में मंदिर निर्माण में उनकी भूमिका सबसे अहम साबित होने वाली है। विहिप के अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार ने कहा कि राम मंदिर का निर्माण विहिप के मॉडल पर ही होगा। 

अयोध्या में जमीन लेगा सुन्नी वक्फबोर्ड: बनेंगे मस्जिद, इंडो-इस्लामिक कल्चर सेंटर, अस्पताल

ट्रस्ट का मुख्यालय भी अयोध्या में ही बनेगा
श्रीराम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास का मुख्यालय दिल्ली के ग्रेटर कैलाश के पते पर है, लेकिन आने वाले दिनों में अयोध्या धाम में ही न्यास का स्थाई मुख्यालय अथवा स्थाई कार्यालय बनेगा। साथ ही स्टेट बंैक के अयोध्या ब्रांच में खाते के साथ लॉकर भी लिया जाएगा। जिसमें फंड के अलावा रामलला व मंदिर से जुड़े अन्य जरूरी दस्तावेजों व कीमती आभूषणों को भी रखा जा सकता है।  

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.