Friday, May 29, 2020

Live Updates: 65th day of lockdown

Last Updated: Thu May 28 2020 09:53 PM

corona virus

Total Cases

165,028

Recovered

70,556

Deaths

4,695

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA59,546
  • TAMIL NADU18,545
  • NEW DELHI16,281
  • GUJARAT15,572
  • RAJASTHAN7,947
  • MADHYA PRADESH7,453
  • UTTAR PRADESH6,991
  • WEST BENGAL4,192
  • ANDHRA PRADESH3,245
  • BIHAR3,036
  • KARNATAKA2,418
  • PUNJAB2,139
  • TELANGANA2,098
  • JAMMU & KASHMIR1,921
  • ODISHA1,593
  • HARYANA1,381
  • KERALA1,004
  • ASSAM784
  • UTTARAKHAND469
  • JHARKHAND458
  • CHHATTISGARH364
  • CHANDIGARH287
  • HIMACHAL PRADESH273
  • TRIPURA242
  • GOA68
  • PUDUCHERRY49
  • MANIPUR44
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS33
  • MEGHALAYA20
  • NAGALAND9
  • ARUNACHAL PRADESH2
  • DADRA AND NAGAR HAVELI2
  • DAMAN AND DIU2
  • MIZORAM1
  • SIKKIM1
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
maharashtra amit shah starts bjp campaign does not mention shiv sena in speech

महाराष्ट्र: शाह ने भाजपा के चुनाव प्रचार अभियान की शुरुआत की, भाषण में शिवसेना का जिक्र नहीं

  • Updated on 9/23/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। महाराष्ट्र में भाजपा और सहयोगी शिवसेना में जारी खींचतान रविवार को साफतौर पर उजागर हो गयी। जब गृहमंत्री अमित शाह (Amit shah) ने औपचारिक रूप से विधानसभा चुनाव के प्रचार का बिगुल फूंका लेकिन अपने भाषण में उन्होंने उद्धव ठाकरे (UDDHAV THACKERAY) के नेतृत्व वाली पार्टी का जिक्र नहीं किया। हालांकि उन्होंने कहा कि राजग राज्य में तीन चौथाई बहुमत से जीत दर्ज करेगा।   

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा- नेहरु अगर दूरदर्शिता दिखाते तो pok भी भारत का अंग होता

शाह ने यहां एक रैली को संबोधित करते हुए साफ संकेत दिये कि भाजपा अपने चुनाव प्रचार में अनुच्छेद 370 के तहत जम्मू कश्मीर को मिले विशेष दर्जे को हटाये जाने के निर्णय को चुनाव प्रचार में उठाएगी। महाराष्ट्र में 21 अक्टूबर को एक ही चरण में चुनाव होंगे और मतगणना 24 अक्टूबर को होगी। शाह ने उपनगर गोरेगांव में चुनाव प्रचार अभियान की शुरुआत की और अनुच्छेद 370 (Article 370) का जिक्र किया। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे खुशी है कि राज्य चुनाव के लिये चुनाव प्रचार अभियान की शुरुआत अनुच्छेद 370 और 35 (ए) को हटाने के हमारे फैसले पर चर्चा से शुरू हो रही है।     

विपक्षी पार्टियां डरी हुई हैं केवल कांग्रेस ही भाजपा को टक्कर दे सकती है : राज बब्बर

शिवसेना (shiv sena) का जिक्र किये बगैर शाह (Amit shah) ने कहा, ‘‘महाराष्ट्र और हरियाणा में चुनाव की घोषणा हो गयी है। मुझे यकीन है कि भाजपा को बहुमत मिलेगा। महाराष्ट्र में राजग (भाजपा, शिवसेना और छोटे सहयोगी दलों) को (288 सदस्यीय विधानसभा में) तीन चौथाई बहुमत मिलेगा।  शाह का यह बयान ऐसे समय में आया है, जब भाजपा और शिवसेना इस चुनाव के लिये सीट-बंटवारे को अंतिम रूप देने का प्रयास कर रहे हैं।  संपर्क किये जाने पर भाजपा के एक वरिष्ठ ने कहा कि रविवार को शाह और उद्धव के बीच बैठक होने की कोई योजना नहीं थी।     

यूपी : कांग्रेस को मिली हार के बाद प्रदेश अध्‍यक्ष राज बब्‍बर ने राहुल को भेजा इस्‍तीफा

गौरतलब है कि शाह लोकसभा चुनाव के लिये गठबंधन को लेकर इस साल फरवरी में यहां ठाकरे के निवास स्थान ‘‘मातोश्री’’ में करीब तीन घंटे रुके थे।  हालांकि लोकसभा चुनाव में जबसे भाजपा ने प्रचंड जीत हासिल की है तब से मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस समेत पार्टी का कोई नेता ठाकरे निवास पर नहीं गया। रैली में केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि अगर जवाहर लाल नेहरू असमय पड़ोसी देश के साथ संघर्ष विराम की घोषणा नहीं करते तो पाकिस्तान के कब्जे वाला कश्मीर (पीओके) अस्तित्व में नहीं आता। उन्होंने कहा कि तत्कालीन प्रधानमंत्री (नेहरू) के बजाय देश के पहले गृह मंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल को यह मुद्दा सुलझाना चाहिए था।     

PM मोदी ने राष्ट्रपति ट्रंप को बताया विशेष शख्सियत, उनके योगदान की सराहना की 

शाह ने यह भी कहा कि मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस चुनाव बाद भी इस पद पर बने रहेंगे। शाह के इस बयान को शिवसेना की अनदेखी करने के तौर पर देखा जा रहा है, जो मुख्यमंत्री पद के लिये पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे को अपने उम्मीदवार के तौर पर पेश कर रही है।  इसका अर्थ है कि भाजपा पीछे हटने के मूड में नहीं है और शिवसेना की रणनीति बीते समय में एक बार से अधिक उजागर हुई है।  नासिक में बृहस्पतिवार को एक रैली में प्रधानमंत्री मोदी ने उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली पार्टी पर निशाना साधा था।     

अमेरिका: PM मोदी का PAK पर हमला, कहा- जिनसे अपना देश नहीं संभलता उन्हें भी 370 से दिक्कत

अपने भाषण में मोदी ने कहा था कि ‘‘मैं राम मंदिर मुद्दे पर बयान बहादुरों और बड़बोलों को देखकर हैरान हूं। देश में हर किसी को उच्चतम न्यायालय का सम्मान करना चाहिए। उच्चतम न्यायालय इस मामले की सुनवाई कर रहा है। मैं हाथ जोड़कर इन लोगों से कहना चाहता हूं कि न्यायिक प्रणाली में विश्वास रखें।  कुछ दिन पहले मुंबई में मेट्रो लाइन के उद्घाटन कार्यक्रम में ठाकरे ने मोदी की मौजूदगी में राम मंदिर का मुद्दा उठाया था।   

comments

.
.
.
.
.