Sunday, Feb 23, 2020
maharashtra anil deshmukh accuse previous bjp govt of tapping phones of ncp congress leaders

ठाकरे सरकार का खुलासा- भाजपा सरकार ने कराए थे NCP, Congress नेताओं के फोन टैप

  • Updated on 1/24/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। महाराष्ट्र (Maharashtra) के गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) ने पूर्ववर्ती भाजपा नीत सरकार पर पिछले साल लोकसभा और विधानसभा चुनाव के दौरान राकांपा और कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के फोन टैप कराने का आरोप लगाते हुए शुक्रवार को मामले की जांच के आदेश दिए। उन्होंने कहा कि ऐसे भी आरोप हैं कि तत्कालीन सरकार ने कुछ अधिकारियों को इजराइल भेजकर फोन टैप कराने का सॉफ्टवेयर मंगाया था।

केजरीवाल की सलाह पर AAP विधायक जगदीप सिंह ने वापस लिया इस्तीफा

देशमुख ने कहा, 'पिछले साल लोकसभा और विधानसभा चुनाव से पहले सरकारी तंत्र का प्रयोग करते हुए पूर्ववर्ती भाजपा नीत सरकार ने राकांपा और कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के फोन टैप करवाए थे।' देशमुख ने राकांपा और कांग्रेस के उन नेताओं के नाम का खुलासा नहीं किया जिनका फोन कथित रूप से टैप कराया गया था। राकांपा मंत्री ने कहा, 'वे राजनीति में नीचे गिर गए हैं। हमने मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं।'

देवेन्द्र फडणवीस के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट खुले न्यायालय में करेगा सुनवाई

विदर्भ के भंडारा जिले में मीडिया से बात करते हुए देशमुख ने कहा, 'चुनाव से पहले भाजपा सरकार ने यह पता लगाने की कोशिश की थी राकांपा और कांग्रेस नेता किससे और क्या बातें करते हैं।' इससे पहले राकांपा नेता और आवास मंत्री जितेंद्र अव्हाड ने कहा था कि फोन टैपिंग प्रकरण से भाजपा की बीमार मानसिकता का पता चलता है। उन्होंने कहा, 'मैंने केवल आरोप लगाए थे। आप किसी के निजी जीवन में क्यों झांकना चाहते हैं? हमारे बीच राजनीतिक और विचारधारा को लेकर मतभेद हैं लेकिन व्यक्तिगत कुछ भी नहीं है। महाराष्ट्र को जानना चाहिए कि इसके पीछे कौन है।'

CAA विरोध पर रासुका लगाने के खिलाफ याचिका पर सुप्रीम कोर्ट का विचार से इंकार

अव्हाड ने संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि उन्होंने फोन टैपिंग और जासूसी के मुद्दे को विधानसभा में कई बार उठाया था। राकांपा मंत्री ने कहा कि उन्हें इसकी थी कि भाजपा के कार्यकाल के दौरान कुछ पुलिस अधिकारी इजराइल गए थे। अव्हाड ने इसे कथित फोन टैपिंग प्रकरण से जोड़कर देखने को कहा।  पिछले साल एक इजराइली फर्म पर भारतीय नेताओं, कार्यकर्ताओं, वकीलों और पत्रकारों के फोन टैप करने के आरोप लगे थे।

सुप्रीम कोर्ट ने राजनीति के अपराधीकरण को लेकर चुनाव आयोग को दिया खास निर्देश

फडणवीस ने दी फोन टैप पर सफाई
महाराष्ट्र में पूर्ववर्ती भाजपा नीत सरकार द्वारा विपक्षी दलों के नेताओं के फोन टैप कराने के आरोपों के बीच पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने शुक्रवार को कहा कि फोन टैपिंग राज्य की संस्कृति में नहीं थी और उनकी सरकार ने ऐसे कोई आदेश नहीं दिए। उन्होंने यह भी कहा कि महाराष्ट्र विकास अघाडी सरकार फोन टैपिंग के आरोपों की जांच करने के लिए स्वतंत्र है। विधानसभा में विपक्ष के नेता फडणवीस ने कहा, 'फोन टैपिंग महाराष्ट्र की संस्कृति नहीं है। मेरी सरकार ने ऐसे कोई आदेश नहीं दिए थे।'

उन्होंने कहा, 'पूरा देश आरोप लगाने वालों की विश्वसनीयता से परिचित है। राज्य सरकार किसी भी विधि से आरोपों की जांच करने को स्वतंत्र है। महाराष्ट्र के लोग सच जानते हैं। मेरे कार्यकाल के दौरान शिवसेना के एक नेता राज्य मंत्री थे।' उन्होंने कहा, 'मेरा एक अनुरोध है कि सरकार को तुरंत जांच करवा कर रिपोर्ट जनता के सामने रखनी चाहिए। इसके लिए अगर वह इजराइल जाना चाहती है तो वह भी करना चाहिए।' 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.