Saturday, Mar 06, 2021
-->
maharashtra govt bans corona vaccination campaign till january 18 sohsnt

महाराष्ट्र सरकार ने 18 जनवरी तक कोरोना वैक्सीनेशन अभियान पर लगाई रोक, जानें क्या थी वजह

  • Updated on 1/17/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कोरोना वायरस (Coronavirus) के खिलाफ भारत में 16 जनवरी से वैक्सीनेशन अभियान शुरू हो चुका है। इस बीच महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Govt) ने CoWin ऐप में तकनीकी खराबी आने के कारण राज्य में दो दिनों के लिए टीकाकरण अभियान पर रोक लगा दी है। ऐसे में पूरे महाराष्ट्र में 18 जनवरी तक टीकाकरण अभियान पर रोक जारी रहेगी।स्वास्थ्य विभाग ने खुद ये जानकारी दी है।  

कोरोना वैक्सीन लगने के बाद सिक्योरिटी गार्ड की हालत गंभीर, AIIMS में भर्ती


18 जनवरी तक के लिए रोका वैक्सीनेशन अभियान
स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार, राज्य में कोरोना वायरस टीकाकरण अभियान 18 जनवरी यानी सोमवार तक के लिए रोक दिया गया है। इस संबंध में स्वास्थ्य विभाग ने एक बयान जारी करते हुए बताया कि कोविन ऐप (Cowin) में तकनीकी खराबी आने के कारण राज्य में 18 जनवरी तक के लिए वैक्सीनेशन अभियान पर रोक लगा दी गई है। 

Corona के खिलाफ जंग में पीएम मोदी ने सही समय पर लिया सही निर्णयः शाह 

18323 लोगों को दिया गया कोरोना का टीका
मालूम हो कि बीते शनिवार से देशभर में कोरोना के खिलाफ वैक्सीनेशन अभियान शुरू हो चुका है। इस क्रम में बीते दिन महाराष्ट्र में कुल 18323 लोगों को कोरोना का टीका लगाया गया, लेकिन देर शाम कोविन ऐप में कमी आने के कारण इस अभियान को 18 जनवरी तक के लिए निलंबित कर दिया गया है। हालांकि यहां कल 28500 कर्मियों को टीके की खुराक देने का लक्ष्य रखा गया, जिसे 18232 लोगों को टीका देने का बाद ही रोकना पड़ा।

पंजाब,हरियाणा के 100 केंद्रों पर चला टीकाकरण अभियान,स्वास्थ्यकर्मियों ने लिया हिस्सा

देशभर में कोविड-19 वैक्सीनेशन अभियान का शुभारंभ
मालूम हो कि बीते शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए देशभर में कोविड-19 वैक्सीनेशन अभियान का शुभारंभ किया। पीएम मोदी ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा, आज के दिन का पूरे देश को बेसब्री से इंतजार रहा है, कितने महीनों से देश के हर घर में बच्चे, बूढ़े, जवान सबकी जुबान पर ये ही सवाल था कि कोरोना की वैक्सीन कब आएगी।'

सीरम इंस्टीट्यूट के CEO अदार पूनावाला ने भी लगवाई वैक्सीन, PM मोदी को दी बधाई

कोरोना वैक्सीन की 2 डोज लगनी बहुत जरूरी
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'आमतौर पर एक वैक्सीन बनाने में बरसों लग जाते हैं लेकिन इतने कम समय में एक नहीं दो मेड इन इंडिया वैक्सीन तैयार हुई हैं। कई और वैक्सीन पर भी तेज गति से काम चल रहा है, ये भारत के सामर्थ्य, वैज्ञानिक दक्षता और टैलेंट का जीता-जागता सबूत है। उन्होंने कहा, 'कोरोना वैक्सीन की 2 डोज लगनी बहुत जरूरी है। पहली और दूसरी डोज के बीच लगभग एक महीने का अंतराल भी रखा जाएगा। दूसरी डोज लगने के 2 हफ्ते बाद ही आपके शरीर में कोरोना के विरुद्ध जरूरी शक्ति विकसित हो पाएगी। भारत वैक्सीनेशन के अपने पहले चरण में ही 3 करोड़ लोगों का टीकाकरण कर रहा है।

जानिए कौन हैं मनीष कुमार जो बने कोरोना वैक्सीन लगवाने वाले पहले भारतीय

पहले चरण में होगा 3 करोड़ लोगों का टीकाकरण
उन्होंने कहा, 'भारत का टीकाकरण अभियान बहुत ही मानवीय और महत्वपूर्ण सिद्धांतों पर आधारित है। जिसे सबसे ज्यादा जरूरी है, उसे सबसे पहले कोरोना का टीका लगेगा। उन्होंने कहा, 'इतिहास में इस प्रकार का और इतने बड़े स्तर का टीकाकरण अभियान पहले कभी नहीं चलाया गया है। दुनिया के 100 से भी ज्यादा ऐसे देश हैं जिनकी जनसंख्या 3 करोड़ से कम है और भारत वैक्सीनेशन के अपने पहले चरण में ही 3 करोड़ लोगों का टीकाकरण कर रहा है।'

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.