Tuesday, Mar 31, 2020
maharashtra politics will not impact jharkhand delhi assembly elections bjp in denial mode

महाराष्ट्र में #BJP की किरकिरी का झारखंड और दिल्ली चुनावों पर होगा बड़ा असर?

  • Updated on 11/27/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। महाराष्ट्र की राजनीतिक घटनाओं और हरियाणा के चुनाव परिणामों का झारखंड और दिल्ली के विधानसभा चुनावों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा, इसको लेकर अब बहस तेज हो गई है। हालांकि भाजपा इस तरह की संभावनाओं से इनकार कर रही है। पार्टी ने झारखंड में पूर्ण बहुमत हासिल होने और स्थिर सरकार बनाने का दावा किया है।

शरद पवार ने महाराष्ट्र की सियासत में खुद को साबित किया असली 'चाणक्य'

लेकिन सियासी पंडितों का मानना है कि महाराष्ट्र में जिस तरह से भाजपा की किरकिरी हुए है, उससे उसकी छवि पर नकारात्मक प्रभाव पड़ा है। यहां तक भाजपा के चाणक्य कहे जाने वाले अमित शाह की रणनीति को लेकर भी सवाल उठने लगे हैं। राजनीतिक गलियारों में चर्चा है कि महाराष्ट्र प्रकरण का असर विपक्षी दलों को मजबूत करने वाली हो सकती है। 

दिल्ली में तो आम आदमी पार्टी के हौंसले बुलंद हो गए हैं। अमित शाह की रणनीति महाराष्ट्र में विफल होने के पार्टी में अलग उत्साह देखा जा रहा है। केजरीवाल ने जहां स्थानीय मुद्दों को तव्वजों देनी शुरू कर दी है, वहीं पीएम नरेंद्र मोदी का जिक्र करना भी बंद कर दिया है। साफ है कि यहां केजरीवाल अपने कामों को चुनाव में हथियार बना रहे हैं। 

प्रशांत भूषण बोले- अमित जी की नीति सदा चली आई, ईमान जाई पर कुर्सी ना जाई!

वहीं, झारखंड में भाजपा को भी नुकसान हो सकता है। जिस तरह से एनडीए के घटकदल विधानसभा चुनाव में भाजपा से अलग अपनी रणनीति बना रहे हैं, उससे विपक्षी खेमे में जोश देखा जा रहा है। राजद, झारखंड मुक्ति मोर्चा और कांग्रेस अपनी रणनीतियों को अमलीजामा पहनाने में जुट गए हैं।

महाराष्ट्र पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला #BJP के चेहरे पर जोरदार तमाचा : कांग्रेस

राजनीतिक पंडितों का तो यहां तक मानना है कि भाजपा के लिए आगामी चुनाव अग्निपरीक्षा साबित होने वाले हैं। छोटे दल अब भाजपा से चुनावों में जोरदार तरीके से मोलभाव करते नजर आएंगे। बात नहीं बनी तो वे अलग रास्ता अपना सकते हैं। 

हालांकि भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने दावा किया कि महाराष्ट्र की राजनीतिक घटनाओं और हरियाणा के चुनाव परिणामों का झारखंड के विधानसभा चुनावों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा और यहां भाजपा को पूर्ण बहुमत प्राप्त होगा और स्थिर सरकार बनेगी। 

राहुल गांधी ने महाराष्ट्र सियासत, संविधान दिवस के बहाने #BJP पर कसा तंज

केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने यह दावा झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए यहां भाजपा का ‘जनसंकल्प पत्र’ जारी करते हुए किया। प्रसाद ने एक सवाल पर कहा, ‘‘सेवा करने पर जनता आशीर्वाद देती है। इसका परिणाम मिलता है। हाल में लोकसभा चुनाव के परिणाम और हरियाणा तथा महाराष्ट्र के चुनाव परिणाम देखकर इसका आप स्वयं अनुमान भी लगा सकते हैं।’’ 

यह पूछे जाने पर कि क्या हरियाणा के चुनाव परिणाम और महाराष्ट्र में राजनीतिक घटना का झारखंड के चुनावों पर भी प्रभाव पड़ सकता है, रविशंकर प्रसाद ने कहा, ‘‘झारखंड में ऐसी कोई उम्मीद नहीं है। पूर्ण बहुमत की और स्थाई, प्रामाणिक हमारी विजय होगी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हरियाणा में हम सरकार में हैं। दुष्यंतजी ने स्पष्ट कहा है कि वह कांग्रेसवाद और उसकी नीतियों में विश्वास नहीं करते हैं।’’ 

BJP सांसद सुब्रमण्यम स्वामी बोले- JNU को 2 साल के लिए कर देना चाहिए बंद

उन्होंने कहा, ‘‘वास्तव में शिवसेना ने भाजपा की पीठ पर सवार होकर चुनाव जीता है।’’ प्रसाद ने भाजपा के मंत्री रहे और अब बागी होकर मुख्यमंत्री के खिलाफ चुनाव लड़ रहे सरयू राय के बारे में किसी सवाल का जवाब देने से इनकार कर दिया। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.