Sunday, Sep 26, 2021
-->
maharashtras-political-situation-sharad-pawar-says-no-tension-to-uddhav-thackeray-govt-prsgnt

महाराष्ट्र में अचानक क्यों उठी राजनीतिक हलचल, क्या खतरे में है ठाकरे सरकार?

  • Updated on 5/26/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। एक तरफ जहां महाराष्ट्र में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं तो वहीँ इस दौरान राजनीतिक हलचले भी तेज हो गई हैं। महाराष्ट्र में लगातार बैठकों का दौर जारी है। एनसीपी प्रमुख शरद पवार गवर्नर से मिले हैं तो वहीँ मातोश्री में भी उद्धव ठाकरे के साथ करीब डेढ़ घंटे तक बातचीत करते रहे।

उधर, राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से उनके आवास पर महाराष्ट्र के पूर्व सीएम और बीजेपी नेता नारायण राणे ने भी मुलाकात की। बताया जा रहा है कि बीजेपी नेता और महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस भी प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाले हैं और उसके बाद हो सकता है कि वो गवर्नर कोश्यारी से मिलें!

राज्यपाल-मुख्यमंत्री के बीच खिंचतान पर लगा विराम! शिवसेना ने पिता-पुत्र जैसा संबंध बताया

उद्धव सरकार डावांडोल
दरअसल, बीते कुछ दिनों से महाराष्ट्र में अचानक से ही राजनीतिक उठापटक शुरू हो गई है, पिछले दिनों भी उद्धव ठाकरे और शरद पवार में मुलाकात हुई है। इस मुलाकात को लेकर लोगों का मानना है कि बीजेपी की और से संपर्क साधा जा रहा है। ऐसे में उद्धव सरकार पर खतरा मंडराने लगा है।

भाजपा सांसद के बेटो ने अपनी ही पार्टी के नेता की जमकर कुटाई, दर्ज हुआ मामला

इसका एक पहलू ये भी है कि क्योंकि एनसीपी-कांग्रेस के कई विधायकों ने उद्धव ठाकरे सरकार के काम करने के तरीके पर सवाल उठाए थे इसलिए पहले शरद पवार, संजय राउत से मिले और फिर शरद उद्धव ठाकरे से मिले।

शरद पवार का बयान
वहीँ, इस बीच आज सुबह ही शरद पवार ने एक बयान जारी कर कह दिया कि उद्धव सरकार बिल्कुल सेफ है इस पर कोई खतरा नहीं है। कांग्रेस की मदद से सरकार स्थिर है। जो भी अटकलें लगाई जा रही हैं वो व्यर्थ और निराधार हैं।

महाराष्ट्र पुलिस में 24 घंटे में 51 नए कोरोना केस, कुल संक्रमित मामले 1800 पार

संजय राउत ने साधा निशाना
वहीँ, इस बीच संजय राउत ने आज सुबह ट्वीट कर लिखा, महाराष्ट्र सरकार पूरी तरह मजबूत है, जो लोग इसे अस्थिर करना चाहते हैं, तो उनके पेट में दर्द माना जाना चाहिए, सरकार को कोई खतरा नहीं है।

इस बीच संजय राउत ने विपक्षी पार्टी बीजेपी पर वार करते हुए कहा कि कोरोना का इलाज और ठाकरे सरकार को गिराने की दवा अभी तक विपक्ष को नहीं मिली है, संशोधन जारी है। विरोधी खुद ही क्वारंटीन हो जाएं तो सही रहेगा। सरकार को अस्थिर करने का प्रयास सफल नहीं होगा।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.