Sunday, Oct 02, 2022
-->
maldives-and-uae-pakistans-move-failed-in-support-of-india-in-oic-meeting-albsnt

OIC की बैठक में भारत के समर्थन में उतरे मालदीव और यूएई, पाकिस्तान की चाल नाकाम

  • Updated on 5/28/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। विश्वव्यापी कोरोना वायरस (Corona Virus) से उपजे संकट से लड़ने के बजाए पाकिस्तान की मंशा भारत को हर मोर्चे पर घेरने की रहती है। लेकिन सभी प्रयास असफल हो जाते है। इसी कड़ी में पाकिस्तान को तब बड़ा धक्का लगा जब  इस्लामिक सहयोग संगठन (OIC) की एक बैठक में इस्लामोफोबिया का मुद्दा उठाकर भारत को अलग-थलग करने की रणनीति बनाई। लेकिन मालदीव और यूएई के भारत के पक्ष में खुलकर समर्थन करने से यह प्रस्ताव गिर गया।

अमेरिका में कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा 1 लाख के पार, अब तक 1,699,073 लोग संक्रमित

दरअसल पाकिस्तान ने भारत पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि मुस्लिमों को कोरोना संकट के बहाने उत्पीड़ित किया जाता है। इसलिये संयुक्त राष्ट्र में इस्लामोफोबिया पर इस्लामिक सहयोग संगठन (OIC) के राजदूतों का एक अनौपचारिक समूह  बनाया जाना चाहिये।  संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान के स्थायी प्रतिनिधि मुनीर अकरम ने इस्लामिक सहयोग संगठन के प्रतिनिधियों की वर्चुअल बैठक में कहा कि भारत में मुसलमानों को जानबूझकर निशाना पर लिया जा रहा है। मोदी की अगुवाई में जब से सरकार बनीहै तबसे भारतीय मुसलमान खौफ में जी रहे है। 

एक ही दिन में कोरोना के रिकॉर्ड 7270 मामले, 1,58,086 पर पहुंचा कोरोना संक्रमण

उन्होंने कश्मीर का जिक्र करते हुए कहा कि वहां गैर-कश्मीरियों को भी बसने का अनुमति देकर मुसलमानों के साथ घोर अन्याय किया है। उन्होंने दावा किया कि ऐसा करके भारत कश्मीर में जनसांख्यिकी बदलने की रणनीति के तहत यह कदम उठायी है। उन्होंने OIC देशों से आग्रह किया कि भारत के खिलाफ सभी एकजुट हो जाएं। वहीं मालदीव के राजदूत थिलमीजा हुसैन ने पाकिस्तान के मंशा पर ही सवाल खड़ा कर दिया।
 

कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरों को यहां पढ़ें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.