Friday, Sep 30, 2022
-->
mamata-attacks-bjp-says-bengal-will-never-bow-before-mahatma-gandhi-killers-rkdsnt

ममता का भाजपा पर कटाक्ष- बंगाल महात्मा गांधी के हत्यारों के सामने कभी सिर नहीं झुकाएगा 

  • Updated on 12/7/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को भाजपा पर 'निजी लाभ के लिए विभाजनकारी राजनीति' करने का आरोप लगाया और कहा कि सभी समुदायों के बीच लंबे समय से सछ्वाव वाला यह राज्य 'कभी भी महात्मा गांधी के हत्यारों के सामने अपना सिर नहीं झुकाएगा।’’ ममता ने पश्चिम मेदिनीपुर में एक रैली को संबोधित करते हुए केंद्र की भाजपा सरकार पर निशाना साधा और नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों की दुर्दशा के प्रति उसकी 'उदासीनता और अहंकार' के लिए उसकी तीखी आलोचना की। 

मोदी सरकार ने किसानों के ‘भारत बंद’ के लिए राज्यों को जारी किया देशव्यापी परामर्श

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को 'जनविरोधी' कृषि कानूनों को तुरंत वापस लेना चाहिए या उसे सत्ता छोड़ देनी चाहिए। तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता ने कहा कि 'भाजपा के कुशासन को सहन करने या चुप रहने के बदले’’ वह जेल में रहना पसंद करेंगी। ममता ने कहा, 'हम बंगाली-गैर बंगाली राजनीति में विश्वास नहीं करते हैं। दोनों हमारे भाई-बहन हैं। हम भाजपा की तरह हिंदू-मुस्लिम राजनीति में भी विश्वास नहीं करते।’’ उन्होंने किसी का नाम लिए बिना कहा, 'राज्य में रहने वाले सभी समुदायों के बीच सछ्वाव का एक लंबा इतिहास रहा है। इस राज्य के लोग कभी भी उन लोगों के सामने अपना सिर नहीं झुकाएंगे, जिन्होंने महात्मा गांधी की हत्या की।’’ 

गैस मूल्य निर्धारण में नए प्रावधानों से रिलायंस, अन्य कंपनियों की होगी बल्ले-बल्ले!

ममता ने एक बार फिर कहा कि भाजपा बाहरी लोगों की पार्टी है और वह कभी भी भगवा पार्टी को बंगाल पर नियंत्रण करने की अनुमति नहीं देंगी। उन्होंने राज्य के लोगों से इस तरह के किसी भी प्रयास का विरोध करने का आग्रह किया। मुख्यमंत्री ने कहा, 'अगर बाहर के गुंडे हमारे राज्य में आते हैं और आपको भयभीत करते हैं, तो आप सभी को उनके खिलाफ एकजुट होकर लडऩा चाहिए। हम शांति में विश्वास करते हैं...।’’ 

सुप्रीम कोर्ट ने मोदी सरकार को सेन्ट्रल विस्टा प्रोजेक्ट के आधारशिला समारोह की दी इजाजत

नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के आंदोलन को अपनी सरकार का समर्थन देते हुए ममता ने कहा कि केंद्र की भाजपा नीत सरकार को Þकिसानों के अधिकारों का बलिदान करने के बाद सत्ता में नहीं बने रहना चाहिए।' ममता ने दावा किया कि भाजपा उनकी सरकार और उनके कल्याणकारी कार्यक्रमों की छवि खराब करने की कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा, ‘‘इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि हम क्या विकास कार्य करते हैं, वे (भाजपा) हमेशा हमें बदनाम करने का प्रयास करेंगे। लेकिन राफेल घोटाले का क्या हुआ? पीएम केयर्स फंड का क्या हुआ? केंद्र को पीएम केयर्स फंड में अब तक मिली राशि पर एक श्वेत पत्र प्रकाशित करना चाहिए।’’ 

कांग्रेस का किसानों के ‘भारत बंद’ को समर्थन, देशभर में करेगी प्रदर्शन

राहुल गांधी ने किसानों के भारत बंद के जरिए साधा अदानी-अंबानी पर निशाना

ममता ने माकपा पर भी निशाना साधा और आरोप लगाया, ‘‘इससे पहले, पश्चिम मेदिनीपुर में माकपा का आतंक था। माकपा के गुंडों द्वारा कई लोग मारे गए थे और बेघर कर दिए गए थे। उस समय लोगों की अपने घरों से बाहर आने की हिम्मत नहीं होती थी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘जंगलमहल में अब शांति है। माओवादियों की बंदूकें शांत हो गई हैं। माकपा के गुंडे भाजपा में शामिल हो गए हैं। सिर्फ रंग बदल गया है।’’ ममता ने विश्वास जताया कि उनकी पार्टी लगातार तीसरी बार और बड़े जनादेश के साथ सत्ता में लौटेगी तथा जून के बाद भी उनकी सरकार मुफ्त राशन देती रहेगी।

 

 

यहां पढ़े कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.