Thursday, May 23, 2019

AAP आयोजित विपक्ष की रैली में भाग लेंगी ममता, मोदी-शाह होंगे निशाने पर

  • Updated on 2/11/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। तृणमूल कांग्रेस प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ 13 फरवरी को आम आदमी पार्टी (आप) द्वारा आयोजित गैर-भाजपा नेताओं की बड़ी रैली में भाग लेने के लिए मंगलवार को नई दिल्ली रवाना होंगी। तृणमूल के एक नेता ने सोमवार को कहा कि ममता के बृहस्पतिवार तक नई दिल्ली में ही रहने की संभावना है। 

आर्थिक आधार पर आरक्षण : सुप्रीम कोर्ट ने मांगा मोदी सरकार से जवाब

नेता ने कहा, ‘‘कार्यक्रम के मुताबिक ममता 12 फरवरी को नई दिल्ली के लिए रवाना होंगी और 13 फरवरी को आप द्वारा आयोजित विपक्ष की रैली में शामिल होंगी। वह विभिन्न विपक्षी दलों के नेताओं से भी मिलेंगी।’’ आप की ‘तानाशाही हटाओ, देश बचाओ’ रैली 13 फरवरी को जंतर मंतर पर आयोजित होगी और 19 जनवरी को ममता द्वारा आयोजित विपक्ष की महारैली में शामिल लगभग सभी दल इसमें भाग लेंगे। तेदेपा प्रमुख चंद्रबाबू नायडू भी इसमें भाग लेंगे। 

अखिलेश का PM मोदी पर तंज, बोले- ये दूसरों की थाली पर हक जमाने वाले लोग हैं

TMC ने विधायक हत्याकांड पर बोला हमला
तृणमूल कांग्रेस के नेता अभिषेक बनर्जी ने सोमवार को कहा कि उनकी पार्टी के विधायक सत्यजीत बिस्वास की हत्या में संलिप्त लोगों को बख्शा नहीं जाएगा। शहर से भागने के बावजूद ऐसे लोगों को कॉलर पकड़कर वापस कोलकाता लाया जाएगा। तृणमूल कांग्रेस की युवा इकाई के अध्यक्ष और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे ने बिना किसी का नाम लिए कहा, ‘‘अगर किसी को लगता है कि वह दिल्ली भाग जाएगा और कानून से बच जाएगा तो मैं आपको बताता हूं कि हम उसे कॉलर पकड़कर वापस कोलकाता लाएंगे।’’

मानहानि मामले में अजित डोभाल के बेटे के समर्थन में दो गवाह, बयान दर्ज

नादिया जिले में कृष्णागंज के विधायक की हत्या के मामले में रविवार को भाजपा नेता मुकुल राय सहित चार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया। राय ने आरोपों से इनकार किया है। भाजपा ने भी बिस्वास की हत्या में किसी तरह की संलिप्तता से इनकार किया है और दावा किया कि हो सकता है कि तृणमूल कांग्रेस के अंदरूनी कलह के कारण यह घटना हुई हो। अभिषेक ने कहा कि भाजपा ‘अपने गुनाहों को छिपाने के लिए’ इस तरह का ‘दुष्प्रचार’ कर रही है। 

गुर्जरों के आंदोलन से परेशान हैं रेल यात्री, बैंसला ने दी सरकार को चेतावनी

उन्होंने कहा, 'अगर (तृणमूल कांग्रेस में) अंदरूनी कलह के कारण ऐसा हुआ तो भाजपा को उन दो गुटों के नाम बताने चाहिए। वे नाम क्यों नहीं बता रहे ? बताना चाहिए। तथ्य यह है कि भाजपा लोकसभा चुनाव के पहले माहौल खराब करने का प्रयास कर रही है।' संपर्क किये जाने पर राय ने कहा, 'उन्होंने (अभिषेक बनर्जी) किसी का नाम नहीं लिया इसलिए मैं कुछ नहीं कहूंगा...लेकिन मैं इतना कहूंगा कि जब भी तृणमूल कांग्रेस के नेताओं और कार्यकर्ताओं की हत्या होती है वे भाजपा पर दोष मढ़ते हैं। सबसे पहले उन्हें अंदरूनी कलह से निजात पाना चाहिए।'

कांग्रेस बोली- लोकपाल बनता तो PM मोदी उसके सामने पहले आरोपी होते

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.