Friday, Mar 31, 2023
-->
mamata banerjee tmc hit back at amit shah bjp expose lies with evidences rkdsnt

ममता बनर्जी ने अमित शाह पर बोला जमकर हमला

  • Updated on 12/22/2020


नई दिल्ली/टीम डिजिटल। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने आज केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर राज्य के विकास के संदर्भ में झूठ बोलने का आरोप लगाया है और राज्य की स्थिति पर शाह द्वारा दिए गए आंकड़ों को झूठ का पुलिंदा करार दिया है। ममता ने कहा कि अमित शाह जानबूझकर पश्चिम बंगाल की निराशाजनक तस्वीर पेश करने का प्रयास कर रहे हैं। पिछले 10 वर्षों में तृणमूल कांग्रेस के शासनकाल में बंगाल में राजनीतिक हत्याएं कम हुई हैं। सभी विकास सूचकांकों पर पश्चिम बंगाल अन्य राज्यों से आगे है। 

किसान एकता मोर्चा का पेज सोशल मीडिया पर बंद, निशाने पर आया फेसबुक

बता दें कि मुख्यमंत्री 28 दिसंबर को बीरभूम जिले में एक आधिकारिक बैठक के लिए जाएंगी और अगले दिन एक रोड शो करेंगी। बोलपुर में रविवार को संवाददाता सम्मेलन में शाह ने राज्य में तृणमूल कांग्रेस की सरकार पर नाकामी का आरोप लगाया था और कहा था कि पश्चिम बंगाल कई मामलों में देश के ज्यादातर हिस्सों से अधिक पिछड़ा है और भ्रष्टाचार तथा उगाही में आगे है।

 भूख हड़ताल पर बैठे किसान नेताओं ने समाधान के लिए गेंद मोदी सरकार के पाले में डाली

इसके बाद बनर्जी ने कहा, 'मैं अमित जी को बताना चाहती हूं कि आप गृह मंत्री हैं और आपको यह शोभा नहीं देता की आप अपने पार्टी कार्यकर्ताओं की ओर से दिए गए झूठ की जांच किये बिना उसका बखान करें।’’ 

मंत्रियों समेत अन्य के खिलाफ 61 केस वापस लेने के भाजपा सरकार के आदेश पर लगाई रोक

मुख्यमंत्री ने कहा, 'मैं केवल दो चीजों पर बोलना चाहती हूं। उन्होंने कहा कि हम उद्योग में शून्य हैं, हम एमएसएमई में नंबर एक पर हैं।’’ बनर्जी ने कहा, 'उन्होंने यह भी कहा कि हमारे गांवों में हमने सड़कें नहीं बनाईं। हम उसमें भी नंबर एक पर हैं और यह जानकारी भारत सरकार ने साझा की है।’’

आठवले बोले- प्रदर्शन की वजह से कृषि कानूनों को वापस लिया तो लोकतंत्र पड़ जाएगा खतरे में

 

 

 

यहां पढ़े कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.