Saturday, Jul 24, 2021
-->
mamata-banerjee-tmc-terms-pegasus-episode-more-dangerous-than-watergate-rkdsnt

ममता बनर्जी ने पेगासस प्रकरण को ‘वाटरगेट’ से ज्यादा खतरनाक करार दिया

  • Updated on 7/22/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बृहस्पतिवार को कहा कि पेगासस स्पाईवेयर का इस्तेमाल कर उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीशों, पत्रकारों, नेताओं और अन्य की जासूसी कराने का प्रकरण अमेरिका में रिचर्ड निक्सन के शासनकाल में सामने आए ‘वाटरगेट’ प्रकरण से भी अधिक खतरनाक है। 

पुलिस कर्मियों के ट्रांसफर, सचिन वाजे की बहाली की CBI कर सकती है जांच : अदालत 

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्पाईवेयर के दुरुपयोग के खिलाफ नागरिक समाज के लोगों, छात्रों और पत्रकारों को उठ खड़ा होना चाहिए। बनर्जी ने कहा कि स्पाईवेयर लगाने वालों के पास प्रशांत किशोर और उनके बीच हुईं चुनाव रणनीति बैठकों के बारे में भी विस्तृत जानकारी थी। बनर्जी ने कथित जासूसी को ‘‘महा-आपातकाल’’ करार दिया। 

एमनेस्टी इंटरनेशनल ने किया साफ- पेगासस प्रोजेक्ट के नतीजों के साथ खड़े हैं 

मुख्यमंत्री ने यहां राज्य सचिवालय में एक संवाददाता सम्मेलन में आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीत सरकार ने सभी निष्पक्ष संस्थानों का राजनीतिकरण कर दिया है। उन्होंने कहा, ‘‘पेगासस, वाटरगेट स्कैंडल से भी अधिक खतरनाक है, यह महा-आपातकाल है।’’ उल्लेखनीय है कि वाटरगेट प्रकरण अमेरिका की डेमोक्रेटिक पार्टी की जासूसी कराए जाने से जुड़ा था और इसके चलते निक्सन को इस्तीफा देना पड़ा था। 

सिद्धू के कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष का पदभार संभालने के कार्यक्रम में शामिल होंगे अमरिंदर सिंह 

बनर्जी ने कहा, ‘‘वे (भाजपा नेतृत्व) यहां तक कि अपने मंत्रियों और अधिकारियों पर भी विश्वास नहीं करते। मैंने सुना है कि उन्होंने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के कई लोगों के फोन टैप किए।’’  उन्होंने कहा, ‘‘प्रेस क्लब, एडिटर्स गिल्ड, हर किसी को एकजुट होना चाहिए। भाजपा मीडिया को डराने की कोशिश कर रही है।’’ मुख्यमंत्री ने कहा कि जब इतना बड़ा मामला सामने आया है तो यह प्रधानमंत्री या केंद्रीय गृह मंत्री का दायित्व बनता है कि वे संसद में बयान दें। 

ममता सरकार पेगासस का इस्तेमाल जासूसी के लिए कर रही : भाजपा 
भाजपा की पश्चिम बंगाल इकाई ने पेगासस मामले पर तृणमूल कांग्रेस के आरोपों पर पलटवार करते हुए बृहस्पतिवार को कहा कि राज्य की ममता बनर्जी सरकार उसी इजराइली जासूसी सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल अपने विरोधियों, पत्रकारों, सरकारी अधिकारियों और यहां तक अपनी ही पार्टी के नेताओं और मंत्रियों की निगरानी करने के लिए कर रही है।

 TMC सांसद ने वैष्णव से बयान की प्रति छीनी, सरकार लाएगी विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि उनकी पार्टी- जिसपर राष्ट्रीय स्तर पर विभिन्न पाॢटयों द्वारा हमला किया जा रहा है- फोन टैपिंग की संस्कृति में विश्वास नहीं करती। हालांकि, तृणमूल कांग्रेस ने आरोपों का खंडन करते हुए कहा कि केवल देश का प्राधिकार उस कंपनी की सेवाएं ले सकता है, जो पेगासस सॉफ्टवेयर बेचती है। घोष ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा, ‘‘ममता बनर्जी ने पेगासस का इस्तेमाल कर अपने विरोधियों, पत्रकारों, अपनी ही पार्टी के नेताओं और मंत्रियों को निगरानी पर रखा है।’’ 
 

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.