Sunday, Apr 18, 2021
-->
mamata-tmc-attacked-modi-bjp-government-over-dinesh-trivedi-politics-rkdsnt

दिनेश त्रिवेदी को लेकर ममता की पार्टी TMC ने मोदी सरकार पर बोला हमला

  • Updated on 2/14/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। तृणमूल कांग्रेस (TMC) ने रविवार को आरोप लगाया कि शुक्रवार को राज्यसभा की सदस्यता से इस्तीफा देने वाले दिनेश त्रिवेदी ने सदन का ‘इस्तेमाल’ किया और उन्हें उनके ‘कुटिल’ राजनीतिक उद्देश्य के लिए सदन का दुरुपयोग करने दिया गया। त्रिवेदी के इस्तीफा देने की घोषणा करने के बाद तृणमूल कांग्रेस ने उनकी आलोचना की और उन्हें ‘‘ कृतघ्न’’ करार दिया वहीं भाजपा ने कहा कि भगवा दल में शामिल होने पर उनका स्वागत किया जाएगा। 

कांग्रेस बोली- सीतारमण देश की अर्थव्यवस्था के लिए हानिकारक हैं

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के पहले बड़ी संख्या में नेताओं के ममता बनर्जी की पार्टी छोडऩे की बीच त्रिवेदी ने इस्तीफा दिया है। त्रिवेदी तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार के रूप में तीन अप्रैल 2020 को उच्च सदन के सदस्य बने थे और उनका वर्तमान कार्यकाल दो अप्रैल 2026 तक है। संप्रग शासनकाल में त्रिवेदी रेलमंत्री थे और उन्होंने 2012 में रेल मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया था। वह दो बार लोकसभा के सदस्य रह चुके हैं और 2019 के लोकसभा चुनाव में मिली हार के बाद पार्टी ने उन्हें राज्यसभा में भेजा था। 

ONGC का शुद्ध लाभ 67 फीसदी लुढ़का, तेल-गैस कीमतों में कमी बनी वजह!

राज्यसभा में तृणमूल कांग्रेस के मुख्य सचेतक सुखेंदु शेखर राय ने सभापति को पत्र लिख कर कहा कि पार्टी ने केन्द्रीय बजट 2021-22 पर चर्चा के लिए वक्ताओं के तौर पर केवल दो नामों की अनुशंसा की थी और त्रिवेदी उनमें शामिल नहीं थे। उन्होंने कहा कि तृणमूल पार्टी को दिया गया वक्त दो वक्ताओं के निर्धारित दिन बोलने के बाद समाप्त हो गया था,इसके बावजूद त्रिवेदी को बोलने क्यों दिया गया। 

बजट सत्र का पहला चरण खत्म: भाजपा-कांग्रेस के बीच विशेषाधिकार हनन का वार-पलटवार

राय ने कहा,‘‘ 12 फरवरी 2021 को अपराह्न करीब एक बजकर 25 मिनट पर जब वित्त मंत्री बजट चर्चा पर जवाब देने जा रही थीं, उस वक्त तृणमूल कांग्रेस के एक सदस्य दिनेश त्रिवेदी को अपराह्न एक बजकर 25 मिनट से करीब चार मिनट तक बोलने की अनुमति दी गई, जबकि एआईटीसी ने बजट पर चर्चा के लिए उनका नाम वक्ता के तौर पर पेश नहीं किया था और पार्टी का वक्त भी समाप्त हो गया था।’’ 

बिहार में प्रशांत किशोर के घर पर चला बुलडोजर, सियासत गर्म

इस्तीफा देते वक्त त्रिवेदी ने कहा था कि पश्चिम बंगाल में हो रही ङ्क्षहसा और कुछ नहीं कर पाने से उन्हें ‘‘घुटन ’’ महसूस हो रही है।राय ने कहा कि त्रिवेदी की सीट राज्यसभा की दीर्घा में आवंटित है लेकिन वह नीचे परिषद चेंबर के अंदर आए और अपनी पसंद की सीट से’’ असंबद्ध विषय पर बोलना शुरू कर दिया।      राय ने आरोप लगाया ,‘‘ बजट पर चर्चा के दौरान इस प्रकार के अनधिकृत हस्तक्षेप को रोकने के लिए आसन ने कोई कार्रवाई नहीं की, उन्होंने उसी पार्टी के खिलाफ बोला जिसमें वह थे  और सदन में अपने प्रस्तावित इस्तीफे को सही साबित करने के लिए उन्होंने एआईटीसी के खिलाफ बेबुनियादी आरोप लगाए।’’ 

केरल में सियासी दलों ने चुनाव आयोग से एक ही चरण में चुनाव कराने का किया अनुरोध

 

 

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.