Thursday, Oct 06, 2022
-->
mamata tmc says policy should be made to control petrol inflation price rise rkdsnt

ममता बनर्जी का सुझाव- मूल्य वृद्धि पर नियंत्रण के लिए बनाई जानी चाहिए नीति

  • Updated on 4/7/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र पर ईंधन और अन्य आवश्यक वस्तुओं की कीमतों में वृद्धि को नियंत्रित करने के लिए कुछ नहीं करने का आरोप लगाते हुए बृहस्पतिवार को जोर देकर कहा कि वृद्धि को रोकने के लिए एक नीति बनाई जानी चाहिए। उसने दावा किया कि देश में आर्थिक स्थिति बद् से बद्तर होती जा रही है और आशंका व्यक्त की कि राज्य आने वाले दिनों में कर्मचारियों को वेतन नहीं दे पाएंगे। 

ये बिल MCD के एकीकरण का बिल नहीं, 'केजरीवाल फोबिया बिल" है : संजय सिंह

बनर्जी ने केंद्र सरकार से राज्यों को उनके बकाया जीएसटी का भुगतान करने का भी आग्रह किया। मुख्यमंत्री ने केंद्र के खिलाफ अपना तीखा हमला जारी रखते हुए कहा कि भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार को राजनेताओं को परेशान करने के लिए केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) का इस्तेमाल करने के बजाय कीमतों पर लगाम लगाने के तरीके खोजने चाहिए।

गौरी लंकेश की हत्या मामले में सुनवाई 27 मई से शुरू होगी 

शाह से कानून व्यवस्था पर सबक लेने की जरूरत नहीं: TMC 
तृणमूल कांग्रेस ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर पश्चिम बंगाल में कानून व्यवस्था की स्थिति पर उनके बयान को लेकर निशाना साधते हुए कहा कि पार्टी को उनसे सीखने की जरूरत नहीं है। शाह ने बुधवार को राज्यसभा में ‘दंड प्रक्रिया (शिनाख्त) विधेयक, 2022’ पर चर्चा का जवाब देते हुए कहा था कि 2019 के लोकसभा चुनाव के प्रचार के लिए जब वह पश्चिम बंगाल गये थे तो उन पर आग के गोले फेंके गये। उन्होंने कहा कि हमारे पार्टी अध्यक्ष जे पी नड्डा बंगाल गये थे तो उनकी गाड़ी पर हमला हुआ। शाह ने पश्चिम बंगाल सरकार पर हमले जारी रखते हुए कहा कि बंगाल में फासीवाद की परिभाषा ही बदल गयी है। 

न्यायाधीशों की निजी विदेश यात्रा पर केंद्र का कार्यालय ज्ञापन निरस्त

शाह की इन टिप्पणियों पर प्रतिक्रिया देते हुए तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सौगत रॉय ने कहा कि न तो उनकी पार्टी को और न राज्य सरकार को शाह से कानून व्यवस्था पर सबक लेने की जरूरत है। रॉय ने कहा, ‘‘अमित शाह तो कानून व्यवस्था के बारे में बोलने वाले अंतिम व्यक्ति होने चाहिए। हम गुजरात में और केंद्र सरकार में मंत्री के रूप में उनके ट्रैक रिकॉर्ड से भलीभांति वाकिफ हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमने देखा है कि वह फरवरी 2020 में हुए दंगों को रोकने में किस तरह नाकाम रहे जिन्होंने दिल्ली को हिला दिया था। हमने भाजपा शासित उत्तर प्रदेश में भी अराजकता देखी है। बंगाल के हालात देश के अन्य किसी भी राज्य से बहुत बेहतर हैं।’’ 

कांग्रेस का BJP पर हमला, कहा- मुल्क के लोग ‘महंगे मोदीवाद’ से त्रस्त

तृणमूल कांग्रेस के प्रदेश महासचिव कुणाल घोष ने कहा कि शाह के बयान राज्य में विधानसभा चुनाव में उनके जोरदार प्रचार अभियान के बाद भी भाजपा की हार पर उनकी हताशा को दर्शाते हैं। हालांकि भाजपा की राज्य इकाई ने गृह मंत्री के बयान का स्वागत किया। भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता समिक भट्टाचार्य ने कहा, ‘‘अमित शाह जी ने सही कहा है। उन्होंने तथ्य बताये हैं। देश में सभी को पश्चिम बंगाल के बारे में पता है। बीरभूम का हालिया नरसंहार स्पष्ट उदाहरण है।’’ भाषा

comments

.
.
.
.
.