Wednesday, Jan 26, 2022
-->
mamsta banerjee said after winning elections in bengal will bring change in delhi rkdsnt

ममता बनर्जी बोलीं- बंगाल में चुनाव जीतने के बाद दिल्ली में लाएंगे ‘परिवर्तन’

  • Updated on 3/18/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी ने बृहस्पतिवार को कहा कि वह पश्चिम बंगाल में आगामी विधानसभा चुनाव जीतने के बाद दिल्ली में ‘परिवर्तन’ लाएंगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा अपनी पूरी ताकत से पश्चिम बंगाल को निशाना बना रही है क्योंकि उसे पता है कि राज्य में चुनाव जीतने के तुरंत बाद वह (बनर्जी) केंद्र में जाएंगी। 

केजरीवाल बोले- दिल्ली में लगाए जाएंगे प्रतिदिन 1.25 लाख लोगों को टीके

उन्होंने भाजपा पर अपने ‘परिवर्तन’ नारे को ‘‘चुराने’’ और इसे ‘असल परिवर्तन’ के नाम से पेश करने का आरोप लगाया। पश्चिमी मेदिनीपुर जिले के कलाईकुंडा में एक जनसभा को सबांधित करते हुए बनर्जी ने कहा, ‘‘भाजपा को भय है कि यदि हम पश्चिम बंगाल में जीतते हैं तो हम दिल्ली में एक विकल्प लेकर आएंगे और इसीलिए वे राज्य को पूरी ताकत से निशाना बना रहे हैं।’’ 

‘इंटरनेट का साम्राज्यवाद’ बनाने की कुछ कंपनियों की कोशिश मंजूर नहीं : रविशंकर प्रसाद

यह आरोप लगाते हुए कि भाजपा विधानसभा चुनाव में गड़बड़ी का प्रयास करेगी, उन्होंने तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं से चुनाव के दौरान और दो मई को मतगणना होने तक सतर्क रहने को कहा। पश्चिम बंगाल में आठ चरणों में विधानसभा चुनाव होगा। पहले चरण में 27 मार्च को मतदान होगा। यह उल्लेख करते हुए कि कभी माओवादियों का गढ़ रहे जंगलमहल क्षेत्र में अब शांति है, बनर्जी ने कहा कि उनकी सरकार ने पश्चिमी मेदिनीपुर, झाडग़्राम, बांकुड़ा और पुरुलिया जिलों के विकास के लिए सबकुछ किया है। 

NCB को पहले रिया चक्रवर्ती की जमानत को देनी होगी चुनौती : उच्चतम न्यायालय

उन्होंने आरोप लगाया कि माकपा, कांग्रेस और भाजपा ने आपस में हाथ मिला रखा है और लोगों से कहा कि वे इन दलों के उम्मीदवारों को वोट न दें। मेदिनीपुर के सांसद एवं प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष का नाम लिए बिना बनर्जी ने कहा, ‘‘भाजपा झूठ की पार्टी है। यह अपने शब्दों पर खरी नहीं उतरती। यहां से भगवा दल के सांसद ने लोगों के लिए कुछ भी नहीं किया है।’’ 

भारत बंद के साथ आंदोलन तेज करेंगे किसान, नये कृषि कानूनों का करेंगे होलिका दहन 

उन्होंने केंद्र की भाजपा नीत सरकार पर ‘‘रेलवे को बेचने की कोशिश’’ का आरोप लगाते हुए खडग़पुर के रेलर्किमयों से कहा कि वे भगवा दल को वोट न दें। बनर्जी ने कुछ जातियों को ओबीसी आरक्षण देने और उच्च अध्ययन के लिए छात्रों को केवल चार प्रतिशत ब्याज पर दस लाख रुपये का शिक्षा ऋण देने का वादा भी किया।

इलेक्टोरल बॉन्ड की बिक्री शुरू के खिलाफ याचिका पर सुनवाई करेगी सुप्रीम कोर्ट

 

 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

comments

.
.
.
.
.