Monday, Nov 28, 2022
-->
man-alleges-that-a-docto-refused-to-treat-his-relative-in-spite-of-having-a-ayushmaan-bharat-card

आयुष्मान योजना का नहीं मिल रहा लोगों को लाभ, डॉक्टर ने कहा- जाओ PM मोदी से पैसा लेकर आओ

  • Updated on 10/24/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। आयुष्मान भारत योजना को पीएम मोदी ने इसलिए शुरू किया की देश के गरीब इसका फायदा उठा सकें, लेकिन यूपी की राजधानी के सबसे बड़े अस्पताल केजीएमयू के डॉक्टर आयुष्मान भारत योजना कार्ड को लेने से मना कर दिया। 

प्रधानमंत्री जन आरोग्य (आयुष्मान भारत) योजना का लाभ पाने के लिए लोग किस तरह परेशान हो रहे हैं, इसकी बानगी लखनऊ के केजीएमयू में दिखी।

शिवपाल यादव की पार्टी का हुआ पंजीकरण, मिला ये नया नाम

जानकारी के मुताबिक शाहजहांपुर से आए एक मरीज के परिजनों ने  ने आरोप लगाया है कि किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के एक डॉक्टर ने आयुष्मान भारत कार्ड रखने के बावजूद भी इलाज करने से मना कर दिया। सिर्फ कार्ड लेने से ही नहीं बल्कि उसने उन्हें फटकारते हुए प्रधानमंत्री मोदी से पैसे लेकर आने के लिए भी कहा।

आरोप है कि डॉक्टरों ने मरीज के परिजनों से कहा कि पहले जाओ पीएम मोदी से पैसा लेकर आओ, तब फ्री में इलाज होगा।मरीज के चाचा हरिश्चंद ने बताया कि उनके पास आयुष्मान भारत योजना का कार्ड है। उन्होंने मुफ्त इलाज की बात कही तो डॉक्टर भड़क गए।

भारत ने तीन सैनिकों की मौत पर पाकिस्तान के समक्ष कड़ा विरोध जताया

उन्होंने बताया कि काउंटर पर बैठे स्टाफ ने उनसे कहा कि यहां मुफ्त इलाज नहीं होता। मजबूरी में पैसा देकर मरीज को अस्पताल में भर्ती करवाया गया। इसके बाद तिलहर को विधायक रोशन लाल को सूचना दी गई। बाद में उनके हस्तक्षेप के बाद मरीज को गांधी वॉर्ड में भर्ती कर योजना के लिए कागजी कार्यवाही शुरू की गई। 

जब विधायक ने डाक्टर से बात की तो डाक्टरो ने बीजेपी विधायक रौशनलाल वर्मा से भी बदतमीजी की। इतना ही नहीं डाक्टर ने धमकी देते हुए कहा की यहां अगर कुछ कहोगे तो मरीज को नुकसान उठाना पड़ेगा।

हालांकि मामला बढ़ने पर केजीएमयू प्रशासन ने विधायक से माफी मांगी। साथ ही केजीएमयू प्रशासन ने मरीज़ के इलाज़ में लापरवाही बरतने वाले डॉक्टर को तलब किया। जिसके बाद डाक्टर ने विधायक से माफी मांगी। वहीं विधायक ने प्रकरण की शिकायत पीएम मोदी और सीएम योगी से करने की बात कही। साथ ही कहा इस मामले को सदन में भी उठाएंगे।

छत्तीसगढ़ में रमन सिंह और पूर्व पीएम वाजपेयी की भतीजी के बीच सीधी टक्कर

मरीज के परिजनों ने आगे यह भी बताया कि विवाद के बाद स्टाफ ने इलाज में आनाकानी शुरू कर दी। उन्हें न सिर्फ बाहर से दवा खरीदकर लानी पड़ी, बल्कि मरीज की पट्टी खुद करनी पड़ी।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.