Wednesday, May 12, 2021
-->
man from himachal evicted his son from property who went to farmers protest kmbsnt

हिमाचलः पूर्व सैनिक ने किसान आंदोलन में गए बेटे को संपत्ति से किया बेदखल

  • Updated on 3/24/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। नए कृषि कानूनों (New Farm Laws) के खिलाफ किसानों का आंदोलन दिल्ली की सीमाओं पर अनवरत रूप से जारी है। वहीं हिमाचल प्रदेश से एक चौंकाने वाली खबर सामने आई है। यहां एक नाराज पिता ने किसान आंदोलन में गए अपने बेटे को अपनी चल-अचल संपत्ति से बेदखल कर दिया है। 

दरअसल हमीरपुर जिले के उपमंडल बड़सर के जमली गांव के रहने वाले अजमेर सिंह एक पूर्व सैनिक हैं। वो कृषि कानूनों के समर्थन में हैं। उनका कहना है कि उनके इकलौते बेटे परमजीत सिंह को ये तक नहीं मालूम कि कौन सी फसल कमब बीजी जाती है। वो केवल मुफ्त का खाना खाता है। 

केजरीवाल सरकार ने 18 साल से ऊपर के लोगों को कोरोना रोधी टीका लगवाने के लिए केंद्र से अपील

अजमेर सिंह ने दिल्ली पुलिस की अपने बेटे को पीटने की अपील 
इतना ही नहीं, हैरान करने वाली  बात तो ये है कि अजमेर सिंह ने दिल्ली पुलिस से अपील की है वो आंदोलन में शामिल उनके बेटे की खूब पिटाई करें। मार-मार कर उसकी हड्डियां तोड़ दें। उन्होंने अपने आंदोलन में शामिल बेटे को देशद्रोही तक करार दे दिया है। 

2005 में भारतीय सेना से रिटायर हुए थे अजमेर सिंह
बता दें कि साल 2005 में अजमेर सिंह भारतीय सेना से रिटायर हुए थे। रिटायरमेंट के बाद वो अपने गांव में ही एक दुकान चलाते हैं और खेतीबाड़ी करते हैं। पमरजीत उनका इकलौता बेटा है और शादीशुदा है और उसकी एक बेटी भी है। उसकी बेटी और पत्नी गांव में ही है। वो कुछ दिन पहले किसान आंदोलन में भाग लेने चला गया। उसके पिता ने एक टीवी चैनल में इंटरव्यू देते हुए उसे पहचान लिया। इस दौरान वो किसान आंदोनल का समर्थन कर रहा था और केंद्र सराकर के खिलाफ नारेबाजी कर रहा था। 

सोमनाथ भारती को सुनाई गई दो साल की सजा को अदालत ने रखा बरकरार 

किसान आंदोलन के सख्त खिलाफ हैं अजमेर सिंह 
ये सब देखकर अजमेर सिंह को बहुत गुस्सा आया और उन्होंने अपने बेटे को अपनी संपत्ति से ही बेदखल कर दिया। अजमेर सिंह किसान आंदोलन के खिलाफ हैं। उनका मानन है कि वहां लोग मुफ्त का खाना खाने और आराम के लिए बैठे हैं। ये देश में पहला ऐसा मामला है जब एक पिता ने किसान आंदोलन में शामिल होने से नाराज होकर अपने बेटे को ही संपत्ति से बेदखल कर दिया हो। 

ये भी पढ़ें: 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.