Thursday, Jun 17, 2021
-->
manish sisodia aap attack bjp modi government for corona crisis vaccine export rkdsnt

कोरोना संकट के लिए मनीष सिसोदिया ने मोदी सरकार पर बोला हमला

  • Updated on 5/9/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कोरोना संकट के लिए केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोला है। इसके साथ उन्होंने कोरोना रोधी टीके के निर्यात पर कई सवाल उठाए हैं। प्रेस वार्ता में सिसोदिया ने कहा कि मोदी सरकार ने पिछले 3 महीनों में 93 देशों को कोरोना रोधी टीके भेजे हैं। इस दौरान केंद्र सरकार ने उन्हें 6.5 करोड़ टीकें दिए। खास बात यह है कि ऐसे 60 देशों में भी टीके निर्यात किए गए, जहां कोरोना संकट बहुत कम था। सरकार ने भारत के लोगों का ख्याल नहीं रखा, उन्हें पहले टीके नहीं लगवाए। मोदी सरकार की इमेज को बढ़ाने के लिए टीकों का निर्यात कर दिया गया। राहुल गांधी का पीएम मोदी पर तंज- कहा- देश को PM आवास नहीं, सांस चाहिए!

मोदी सरकार में मंत्री ने योगी सरकार की कोरोना से निपटने की व्यवस्था पर उठाए सवाल

सिसोदिया ने यह कहा कि भारत में कोरोना की दूसरी लहर में एक लाख लोगों की मौत हो गई। अगर टीकों का एक्सपोर्ट नहीं होता तो इन टीके से देश के लोगों की जान बचाई जा सकती थी। राज्य टीकों के लिए तरस रहे हैं, टीकाकरण रफ्तार नहीं पकड़ रहा है। दिल्ली के डिप्टी सीएम ने कहा कि केंद्र सरकार के मंत्री दलील देंगे कि वह अंतरराष्ट्रीय करार से बंधे थे। अमेरिका, फ्रांस और यूरोपीय संघ के देश भी ऐसी संधियों का पालन करते हैं, लेकिन किसी ने भी अन्य देश को प्राथमिकता नहीं दी। सभी ने पहले अपने देशवासियों पर गौर किया। 

राहुल गांधी का पीएम मोदी पर तंज- कहा- देश को PM आवास नहीं, सांस चाहिए!

सिसोदिया ने कहा कि सिर्फ हमने दूसरों को टीके दिए, वो भी तब जब हमारे लोग मारे जा रहे थे। उपमुख्यमंत्री ने सवाल किया कि क्या विदेशों को वैक्सीन एक्सपोर्ट करना सिर्फ मोदी सरकार की इमेज सुधारने के लिए था या कुछ अन्य देशों से तारीफ सुनने के लिए था? मैं केंद्र सरकार से गुजारिश करता हूं कि अपने देश में सभी का टीकाकरण किया जाए।

अपने ट्वीट में सिसोदिया लिखते हैं, 'दिल्ली सरकार ने दिल्ली के लोगों के लिए वैक्सीन ख़रीदने के लिए 600 करोड़ का बजट मंज़ूर किया है। कई और राज्य भी इसी तरह तैयार हैं. लेकिन वैक्सीन उपलब्ध नहीं हैं. क्योंकि मार्च से अब तक केंद्र सरकार ने अरब देशों सहित 93 देशों पर मेहरबानी दिखाते हुए 6.6 करोड़ वैक्सीन एक्सपोर्ट कर दी'.

कोरोना कहर : ममता ने पीएम मोदी से की ऑक्सीजन, दवाओं पर टैक्स छूट की मांग


 टीके के लिए केजरीवाल ने डॉ. हर्षवर्धन को लिखा खत 

कोरोना के टीके की कमी को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन को पत्र लिखा लिखी है। इसमें केजरीवाल ने कहा, 'दिल्ली में 18-45 वर्ष के 92 लाख लोग हैं, आप सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और भारत बायोटेक को निर्देश दें कि मई से जुलाई के दौरान हर महीने 60 लाख वैक्सीन डोज दिल्ली को सप्लाई करें।' दिल्ली के मुख्यमंत्री ने लिखा कि 18-45 और 45 से ऊपर के दोनों आयु वर्ग के मद्देनजर दिल्ली को हर महीने 83 लाख डोज चाहिए ताकि अगले 3 महीने में टीकाकरण पूरा हो सके।

ऑक्सीजन जमाखोरी को लेकर दिल्ली पुलिस ने मारे छापे, नवनीत कालरा की तलाश

सीएम ने कहा कि हम अभी हर रोज एक लाख टीके लगा रहे हैं, जिसको बढ़ाकर 3 लाख तक करने जा रहे हैं। इसलिए हमारी क्षमता 90 लाख टीके प्रति माह लगाने की होगी। केजरीवाल ने यह भी कहा कि कोरोना वैक्सीन की कीमत जैसी होनी चाहिए, चाहे केंद्र सरकार खरीदे या राज्य सरकार खरीदे या फिर प्राइवेट अस्पताल। अभी के हालात में वैक्सीन बनाने वाला प्राइवेट अस्पताल को पहले वैक्सीन देगा, क्योंकि प्राइवेट अस्पताल को वैक्सीन देने में लाभ ज्यादा है। प्राइवेट हॉस्पिटल को महंगी डोज मिलती है।
 

comments

.
.
.
.
.