Monday, Dec 06, 2021
-->
manish sisodia says now govt should make plan for next year board exam kmbsnt

CBSE 12th Exam रद्द: फैसले का स्वागत कर बोले सिसोदिया- अगले साल की परीक्षा का अभी से बने प्लान

  • Updated on 6/2/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। केंद्र सरकार द्वारा सीबीएसई 12वीं की बोर्ड परीक्षा रद्द करने के फैसले का दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने स्वागत किया है। उन्होंने कहा है कि शिक्षामंत्रियों की मीटिंग में भी मैंने दो प्रस्ताव जो परीक्षा के रखे गए थे, उनका समर्थन न करके एक तीसरा प्रस्ताव रखा जिसमें परीक्षा न करने का सुझाव दिया गया था।

डिप्टी सीएम सिसोदिया ने एक टीवी चैनल को दिए साक्षातकार में कहा कि कोरोना के कारण उत्पन्न हुई परिस्थितियों के कारण हमें अंतिम समय में इस प्रकार के बड़े फैसले लेने पड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि मेरा केंद्र सरकार, सीबीएसई बोर्ड और राज्य सरकारों से अनुरोध है कि 12वीं के छात्रों को लेकर हमारे सामने इस प्रकार की स्थिति हर साल आकर खड़ी होगी। हमें इसके लिए अब तैयार रहना होगा।  

CBSE 12वीं की परीक्षा रद्द होने के बाद अब कैसे निकलेगा रिजल्ट?

अगले साल की परीक्षा के लिए भी से बने योजना 
सिसोदिया ने कहा कि जिस गति से वैक्सीनेशन चल रहा है और जिस प्रकार से तीसरी लहर के आने की बात हो रही है इसे देखते हुए ये तो स्पष्ट है कि कोरोना इतनी जल्दी जाने वाला नहीं है। ऐसे में हमें अगले साल के लिए अब तैयारी करनी चाहिए। इस साल जो बच्चे 10वीं और 12वीं में पहुंचे हैं अगले साल उनकी परीक्षा कैसे करवाई जाएगी इसकी योजना हमें अभी से बनाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि हम अब पुराने दौर की परीक्षाओं से  बाहर निकल सकते हैं। 

डेढ़ माह बाद दिल्ली के स्कूलों को खोलने न खोलने पर होगा विचार 
वहीं दिल्ली में स्कूल खुलने के सवाल पर उन्होंने कहा कि इसका आंकलन हम एक से डेढ़ महीने के बाद ही कर सकते हैं। तेजी से वैक्सीनेशन करने की कोशिशें जारी हैं। छात्र रिजल्ट के बाद अलगी कक्षाओं में प्रमोट हो जाएं उसके बाद ही स्कूलों को खोलने न खोलने पर निर्णय लिया जाएगा। 

CBSE 12वीं की परीक्षा रद्द, PM मोदी की बैठक में लिया गया फैसला

इस आधार पर कर सकते हैं 12वीं के छात्रों का मूल्यांकन 
इसके साथ ही उन्होंने कहा कि छात्रों का मूल्यांकन 9वीं, 10वीं 11वीं और 12वीं के प्री बोर्ड परीक्षाओं के रिजल्ट के आधार पर हो सकता है। स्कूल के पास बच्चों की पूरी हिस्ट्री होती है। पहली कक्षा से लेकर 12वीं तक बच्चे का स्तर कैसा रहा है इसके आधार पर उसका मूल्यांकन परीक्षा परिणाम दिया जा सकता है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.