Tuesday, Dec 07, 2021
-->
manish sisodia seeking lg reply for his demand of old home isolation policy kmbsnt

होम आइसोलेशन की पुरानी नीति के लिए सिसोदिया ने अब अमित शाह को लिखा पत्र

  • Updated on 6/24/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया का कहना है कि उपराज्यपाल अनिल बैजल के लोगों को क्वारंटीन केंद्र जांच के लिए भेजने वाले आदेश से प्रशासन पर दबाव पड़ रहा है। मैंने उनसे लोगों को क्वारंटीन केंद्र भेजने के उनके फैसले को बदलने की अपील की थी, लेकिन दो दिन हो गए हैं। अब तक मुझे इसके बारे में कोई भी जवाब नहीं मिला है। उपराज्यपाल के नए नियम के बाद से प्रशासन पर दबाव पड़ रहा है। 

सिसोदिया ने कहा कि आज मैंने इस मामले में दखल देने के लिए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखा है। मैंने पत्र में उनसे अपील की है कि इस नए नियम को जल्द से जल्द बदलें क्योंकि इसके कारण हमें दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। 

बता दें कि दिल्ली में होम आइसोलेशन के लिए उपराज्यपाल अनिल बैजल के आदेशों ने केजरीवाल सरकार की समस्या बढ़ा दी है। ऐसे में उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने उनसे मंगलवार को अपील की थी कि होम आइसोलेशन को लेकर दिल्ली सरकार की जो पुरानी नीति थी उसी को लागू करने के आदेश दिए जाएं। इसके लिए सिसोदिया ने उपराज्यपाल को पत्र लिखा है। इस बात की जानकारी उन्होंने ऑनलाइन प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दी थी।

कोरोना से जंग: LNJP में 200 मरीजों पर होगा प्लाज्मा थेरेपी ट्रायल, मिली अनुमति

लोगों के मन में बैठा क्वारंटीन केंद्र का डर- सिसोदिया
मनीष सिसोदिया ने मीडिया रिपोर्ट्स का हवाला देते हुए कहा कि दिल्ली में होमआइसोलेशन को लेकर एलजी बैजल द्वारा दिए गए आदेशों के बाद से लोगों को समस्या का सामना करना पड़ रहा है। लोगों को क्वारंटीन सेंटर जाने का डर सता रहा है। उन्होंने कहा कि अगर अब कोई कोरोना संक्रमित होता है तो उसे क्वारंटीन सेंटर जाकर जांच के लिए लाइन में लगना होगा। जिससे लोगों की समस्या तो बढ़ेगी ही साथ ही संक्रमण फैलने का खतरा भी बढ़ेगा।

राधा स्वामी कोविड सेंटर : अमित शाह के जवाब पर केजरीवाल बोले- मदद के लिए शुक्रिया

LG ने शर्तों पर दी थी होम आइसोलेशन की अनुमति
यहां आपको बता दें कि दिल्ली सरकार ने होम आइसोलेश पर रोक का पहले दिन से विरोध किया था। जिसके बाद केंद्र सरकार ने अपना फैसला बदला और होम आइसोलेशन के लिए जांच और घर में दो कमरे होने की शर्ती रखी। इसके साथ ही मरीज को गंभीर बीमारी से पीड़ित नहीं होना चाहिए तभी उसको होम आइसोलेशन दिया जाएगा। इन सबकी जांच के लिए उसे पहले क्वारंटीन सेंटर जाना होगा। ऐसे में सिसोदिया का कहना है कि लोगों को भी समस्या का सामना करना पड़ा रहा है। 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें-

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.