Friday, May 14, 2021
-->
manjinder-singh-sirsa-becomes-new-president-of-gurudwara-committee

गुरुद्वारा कमेटी मामला: मनजिंदर सिंह सिरसा बने गुरुद्वारा कमेटी के नए अध्यक्ष 

  • Updated on 3/16/2019

नई दिल्ली/सुनील पाण्डेय। दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के बहुप्रतीक्षित आंतरिक चुनाव आज संपन्न हो गए। कानूनी अड़चनों के बाद लगातार दो बार स्थगित हुए चुनाव आज आखिरकार हाईकोर्ट की दखल के बाद सिरे चढ़ पाया। कमेटी के मुख्य कार्यालय गुरु गोबिन्द सिंह भवन गुरुद्वारा रकाबगंज साहिब में श्री गुरु ग्रंथ साहिब की हजूरी में अरदास के बाद गुरुद्वारा चुनाव अधिकारियों की देख-रेख में हुए।

इसमें संता सिंह उमेदपुरी को चुनाव प्रक्रिया के लिए प्रो. टैम्पोर चेयरमैन नियुक्त किया गया।  इसके बाद मनजिंदर सिंह सिरसा को कमेटी का नया अध्यक्ष चुना गया। वहीं हरमीत सिंह कालका को महासचिव, रंजीत कौर वरिष्ठ उपाध्यक्ष, कुलवंत सिंह बाठ उपाध्यक्ष एवं हरविंदर सिंह केपी को संयुक्त सचिव निर्विरोध चुना गया है। इसके साथ ही 10 कार्यकारिणी सदस्यों का भी चुनाव हुआ है।

TPDDL ने यूरोपियन कमीशन के साथ किया करार, आपदा के समय भी नहीं रुकेगी बिजली आपूर्ति

बता दें कि अध्यक्ष पद के नाम की मांग करने पर मनजिन्दर सिंह सिरसा का नाम जत्थेदार अवतार सिंह हित ने पेश किया और महासचिव के पद के लिए हरमीत सिंह कालका का नाम अमरजीत सिंह पिंकी ने पेश किया।  चुनाव से पहले आज दिल्ली हाईकोर्ट में सुबह चुनाव को रोकने के मामले में सुनवाई हुई।

कार्यकारिणी के चुनाव पहले 11 बजे प्रस्तावित था, लेकिन हाईकोर्ट का आदेश साढ़े 3 बजे आने के कारण साढ़े 4 बजे चुनाव की प्रक्रिया शुरू हुई। हालांकि, साढ़े 4 बजे ही चुनाव रोकने की याचिका डालने वाले दलजीत सिंह खालसा ने हाईकोर्ट के डिवीजन बेंच में आज के आदेश को चुनौती दे दी। जिसपर अब सोमवार को सुनवाई होगी। 

शिरोमणि अकाली दल बादल अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल के लिफाफे से आखिरकार सिरसा ही अध्यक्ष पद हासिल करने में भागयशाली रहे। हालांकि सुबह तक हरमनजीत सिंह का नाम अध्यक्ष की दौड़ में शामिल था। नये बने 5 पदाधिकारियों में दो जाट सिख समुदाय, 2 भाजपा बिरादरी, व एक रामगढिया बिरादरी से पाए हैं। यह चुनाव अगले 2 साल के लिए हुआ है। इसके बाद कार्यकारिणी का चुनाव 2021 तक नहीं होगा। मार्च 2021 में आम चुनाव होगा। 

इस साल शुरू होगा दिल्ली मेट्रो के सबसे छोटे रूट पर काम, इन स्टेशनों पर बढे़गी रफ्तार

10 कार्यकारिणी सदस्य चुने गए
दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के हुए नवनिर्वाचित चुनाव में 10 कार्यकारिण्ीा सदस्य भी चुने गए हैं। इसमें हरिंदरपाल सिंह, एमपीएस चडढा, परमजीत सिंह चंडोक, कुलदीप एस साहनी, जगदीप सिंह काहलों, भूपिंदर सिंह भुल्लर, विक्रम सिंह रोहिणी, मलकिंदर सिंह, जितेंदर सिंह साहनी एवं परमजीत सिंह राणा का नाम शामिल है। 

मंजीत सिंह जीके का दौर समाप्त
मनजिंदर सिंह सिरसा के कमेटी अध्यक्ष बनने के साथ ही कमेटी के पूर्व अध्यक्ष मंजीत सिंह जीके का दौर समाप्त हो गया। आज चुने गए कार्यकारिणी सदस्यों में सिर्फ परमजीत सिंह राणा ही जीके के वफादारों की सूची में थे, जिन्हें कार्यकारिणी में स्थान प्राप्त करने का मौका मिला।

भ्रष्टाचार के आरोप लगने के बाद जीके के खास समझे जाते उसके साथी सदस्य सभी साथ छोड़ गए हैं। जीके के साथ इस समय केवल परमजीत सिंह राणा, अमरजीत सिंह पप्पू, तथा उनके भाई हरजीत सिंह जीके ही शामिल हैं। कुछ मिलाकर पंथक सियासत में जीके का आज सफर समाप्त हो गया है। 

रिपोर्ट में हुआ बड़ा खुलासा, अल्पसंख्यक ईसाईयों के कब्रिस्तानों पर हुआ कब्जा

गुरुद्वारा कमेटी में चुनाव के बाद 3 प्रस्ताव पास 
दिल्ली सिख गुरुद्वारा कमेटी के चुनाव के दौरान महासचिव हरमीत सिंह कालका द्वारा 3 प्रस्ताव पेश किये गये। इसमें पहला प्रस्ताव श्री गुरू नानक देव का 550वां वर्ष प्रकाश पर्व को बड़े पैमाने पर मनाने के संबंध में देश एवं विदेश में धार्मिक क्षेत्र से संबंध रखने वालों 5 नामचीन हस्तियों को दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी का एसोसिएट सदस्य बनाने के लिए था।

दूसरा प्रस्ताव गुरुद्वारा बाला साहिब स्थित गुरु हरिकिशन अस्पताल जो स्वर्गवासी जत्थेदार बाबा हरबंस सिंह कार सेवा वालों के नेतृत्व और आशीर्वाद से निर्माण किया गया था पर विरोधियों की साजिश भरी कुचालों के कारण संगतों की सेवा से दूर रखा गया। उसे दोबारा संगतों की सेवा में ले जाने के लिए एवं आगे से उसकी देख-रेख के लिए 5 नामचीन डाक्टर एवं 6 नामचीन हस्तियों जिसमें 2 सदस्य दिल्ली कमेटी के होंगे।

बेटे के नाम खत लिख मां ने कर लिया सुसाइड! पढ़े पूरा वाक्या

इन सदस्यों में एक सदस्य विरोधी दल का होगा। कुल 11 सदस्य पर आधारिमत कमेटी बाबा बचन सिंह जी कार सेवा वालों की सरप्रस्ती में बनाने का था। तीसरा प्रस्ताव दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी द्वारा सभी सिक्ख संगत एवं कमेटी सदस्यों को गुरुद्वारा कमेटी में शामिल होने वाले सभी कार्यो, खर्चो एवं आमदनी के प्रति जानकारी देना यकीनी बनाने के लिए पेश किये गये जिसकी जनरल हाऊस द्वारा जयकारों की गूंज में सर्वसम्मति से स्वीकृति दी गई। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.