Thursday, May 13, 2021
-->
manjinder singh sirsa came out in support of deep sidhu kmbsnt

दीप सिद्धू के समर्थन में उतरे मंजिंदर सिंह सिरसा, कहा- करेंगे हर संभव मदद

  • Updated on 3/2/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। 26 जनवरी के दिन ट्रैक्टर रैली की आड़ में लाल किले पर हुई हिंसा के आरोपी दीप सिद्धू (Deep Sidhu) के समर्थन में शिरोमणी अकाली दल के नेता अब खुलकर सामने आ गए हैं। मंजिंदर सिंह सिरसा (Manjinder Singh Sirsa) ने खुलासा किया है कि जिस दिन सिद्दू को गिरफ्तार किया गया था, उसी दिन उनकी सिद्दू से फोन पर बात हुई थी। उन्होंने कहा कि वो दीप सिद्धू की हर संभव मदद करेंगे और उसे दिल्ली सिख दुरुद्वारा प्रबंधन कमेटी (DSGMC) की ओर से कानूनी सहायदा भी उसे प्रदान करवाएंगे। 

मंजिंदर सिंह सिरसा ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल  से ट्वीट कर लिखा है कि कई लोगों ने मुझे दीप के बारे में पूछने के लिए बुलाया है। मैं आप सभी को अपडेट करना चाहता हूं कि जिस दिन उसे रिमांड किया गया था, उसके साथ मैंने एक टेलीफोनिक बात की थी। वह पूरी तरह से ठीक है, स्वास्थ्य के लिहाज से ठीक हैॉ मैंने उसे आश्वासन दिया है कि DSGMC सभी कानूनी सहायता प्रदान करेगी और यह सुनिश्चित करेगी कि वह जल्द ही जेल से बाहर आ जाए। 

कृषि कानूनों के खिलाफ गांवों में हर दिन अनशन करेंगे 5 किसान 

गिरफ्तार किसानों की जमानत कराने में जुटी DSGMC
जानकारी के लिए आपको बता दें कि DSGMC की ओर से लगातार आंदोलन में शामिल गिरफ्तार किए गए किसानों को जमानत दिलाने की कोशिश की जा रही है। इतना ही नहीं कई केस में उन्हें सफलता भी हासिल हुई है। सिरसा खुद ट्वीट कर बता रहे हैं कि वो किसानों की जमानत करवा रहे हैं। उन्होंने ट्वीट किया है कि DSGMC लीगल टीम का एक और बड़ी सफलता के लिए धन्यवाद - 12 किसानों को नांगलोई FIR46/2021 में दिलवाई ज़मानत ! हमारी लीगल टीम के सभी एडवोकेटस को बहुत बहुत बधाई और संगत के सहयोग के लिए धन्यवाद। 

दीप सिद्धू को 14 दिन की न्यायिक हिरासत
दीप सिद्धू को 23 फरवरी को ही 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेजा गया है। कुछ ही समय दीप सिद्धू के सोशल मीडिया अकाउंट से एक वीडियो जारी किया गया था। इसमें दावा किया गया कि दीप सिद्धू ने किसान आंदोलन के दौरान कोई भड़काऊ भाषण नहीं दिया। जबकि पुलिस ने असली गुनाहगार को गिरफ्तार नहीं कर रही है।

इस वीडियो में दीप सिद्धू ने खुद को निर्दोष बताया है और किसान नेताओं के भड़काऊ भाषण दिखाए हैं। इस वीडियो में दीप सिद्धू प्रदर्शनकारियों को समझाता हुआ दिखाई दे रहा है। वीडियो में भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत, किसान नेता गुरनाम चढ़ूनी और एक लाख के इनामी एक्टिविस्ट लखबीर सिंह उर्फ लक्खा सिधाना का भड़काऊ भाषण है।

बंगाल में आठ चरणों में चुनाव कराने के चुनाव आयोग के फैसले के खिलाफ याचिका

दीप सिद्धू के सोशल मीडिया अकाउंट से जारी किया गया था वीडियो
वीडियो में किसान नेता राकेश टिकैत का बयान है, जिसमें वो ट्रैक्टर रोकने पर दिल्ली पुलिस को धमकी देते नजर आ रहे हैं। गैंगस्टर से सोशल एक्टिविस्ट बना लक्खा सिधाना वीडियो में ट्रैक्टर परेड का तय रूट तोडऩे की ओर इशारा कर रहा है। वह कह रहा है कि हमारे ट्रैक्टर भी रिंग रोड की ओर जाएंगे। कीर्ति किसान संगठन के राजिंदर सिंह दीप वीडियो में कहते दिख रहे हैं कि 26 जनवरी को सारे ट्रैक्टर नाकों पर खड़े कर दो और इस दिन मोदी की चर्चा न हो, बल्कि मोदी की गर्दन पर ट्रैक्टर चढऩे की चर्चा हो।

वहीं, हरियाणा के किसान नेता गुरनाम सिंह चढ़ूनी इस वीडियो में सरकार को चेतावनी देते नजर आ रहे हैं। वो कह रहे हैं कि 26 तारीख को अपनी तैयारी कर ट्रैक्टरों के साथ आ जाएं। जबरदस्ती बैरिकेड्स तोड़कर दिल्ली में घुसेंगे। सरकार गोली मारे-लाठी मारे, जो करना है कर ले। 26 को फाइनल मैच होगा।

ये भी पढ़ें:

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.