Wednesday, Jun 03, 2020

Live Updates: Unlock- Day 3

Last Updated: Wed Jun 03 2020 05:30 PM

corona virus

Total Cases

208,709

Recovered

100,419

Deaths

5,834

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA72,300
  • TAMIL NADU24,586
  • NEW DELHI22,132
  • GUJARAT17,632
  • RAJASTHAN9,373
  • UTTAR PRADESH8,729
  • MADHYA PRADESH8,420
  • WEST BENGAL6,168
  • BIHAR4,096
  • KARNATAKA3,796
  • ANDHRA PRADESH3,791
  • TELANGANA2,891
  • JAMMU & KASHMIR2,718
  • HARYANA2,652
  • PUNJAB2,342
  • ODISHA2,245
  • ASSAM1,562
  • KERALA1,413
  • UTTARAKHAND1,043
  • JHARKHAND722
  • CHHATTISGARH564
  • TRIPURA471
  • HIMACHAL PRADESH345
  • CHANDIGARH301
  • MANIPUR89
  • PUDUCHERRY79
  • GOA79
  • NAGALAND58
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS33
  • MEGHALAYA30
  • ARUNACHAL PRADESH28
  • MIZORAM13
  • DADRA AND NAGAR HAVELI4
  • DAMAN AND DIU2
  • SIKKIM1
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
manohar-hooda-wins-hinges-on-the-shoulders-of-10-seats-in-haryana

हरियाणा में 10 सीटों पर मनोहर-हुड्डा के कंधो पर टिका जीत का दारोमदार, ये हैं सियासी समीकरण

  • Updated on 5/13/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। भारतीय जनता पार्टी शासित हरियाणा में लोकसभा चुनाव के छठे चरण में सभी 10 सीटों पर 12 मई को मतदान हुआ। यहां मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और उनके पूर्ववर्ती कांग्रेस नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा के लिए 'करो या मरो' की लड़ाई है। इन दोनों नेताओं के अलावा ओम प्रकाश चौटाला की इंडियन नैशनल लोकदल भी चुनावी मैदान में प्रबल दावेदारी कर रही है। 

लोकसभा चुनाव के मैदान में इस बार हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा सोनीपत से अपना भाग्य आजमा रहे हैं जबकि उनके बेटे दीपेंद्र, रोहतक से चौथी बार जीत की उम्मीद कर रहे हैं। दीपेंद्र हुड्डा, दस उम्मीदवारों में से एकमात्र कांग्रेस उम्मीदवार है जो मोदी लहर के बावजूद 2014 के लोकसभा चुनावों में जीतने में कामयाब रहे है। उस समय बीजेपी को 34.8 फीसदी वोट मिले थे और सात सीटों पर जीत मिली थी। वहीं आईएनएलडी को दो सीटों पर जीत मिली थी।

पंजाब: गुरदासपुर में चुनाव प्रचार के दौरान सनी देओल की गाड़ी हादसे का शिकार

राज्य की वर्तमान खट्टर सरकार को मोदी फैक्टर के जरिए ‘असाधारण जीत’ का भरोसा है। आपको बता दें की खट्टर सरकार जनवरी में जींद में हुए विधानसभा उपचुनाव को जीत चुकी है। इस उप चुनाव में कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला, जेजेपी के दिग्विजय चौटाला के बाद तीसरे नंबर पर रहे थे। यह पहली बार है कि बीजेपी ने जींद सीट जीती है।

परन्तु बीजेपी को इस बार हरियाणा में दो मुद्दों का सामना करना पड़ सकता है। पहला, बीजेपी सरकार अपने कार्यकाल के अंत में सत्ता विरोधी लहर का लगातार सामना कर रही है। दूसरी, चुनाव में जाट आरक्षण हरियाणा में एक बड़ा मुद्दा बना हुआ है, जहां जातिगत समीकरण ने प्रत्येक चुनाव में एक निर्णायक भूमिका निभाई है।

MP के रतलाम में बोले PM मोदी- 'हुआ तो हुआ' कांग्रेस का अहंकार

खट्टर- भाजपा जनता की उम्मीदों पर उतरी खरी
मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछली सरकारों में जहां भ्रष्टाचार और भाई भतीजावाद का बोलबाला था, वही भाजपा सरकार में मेरिट के आधार पर नौकरियां दी गई है। उन्होंने कहा कि पूर्व की सरकारों में विकास कार्यों में भी भेदभाव किया जाता था लेकिन भाजपा सरकार ने पूरे प्रदेश में एक समान विकास कराने के लिए लगातार काम किया।

कमल हासन का विवादित बयान, कहा- स्वतंत्र भारत का पहला आतंकवादी था हिंदू

हुड्डा- कांग्रेस ने किया जींद का विकास
हुड्डा ने कहा की उनके 9 साल के कार्यकाल में जींद शहर में विकास के अनेक काम हुए उनसे पहले की इनेलो सरकार और उनके बाद की भाजपा सरकार ने जींद के विकास के लिए कुछ नहीं किया। हुड्डा ने कहा कि चौटाला सरकार में जहां लूट- खसुट का काम होता था, किसानों पर गोलियां चलाई जाती थी, कर्मचारियों की आवाज दबाई जाती थी और व्यापारियों को लूटा जाता था, वहीं भाजपा सरकार ने 4 साल में प्रदेश का भाईचारा खत्म करने का काम किया।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.